विधानसभा सत्र बुलाने पर राज्यपाल की आपत्ति पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- BJP की साजिश नहीं होगी कामयाब
Jaipur News in Hindi

विधानसभा सत्र बुलाने पर राज्यपाल की आपत्ति पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- BJP की साजिश नहीं होगी कामयाब
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकार के मौजूदा संकट को देखते हुए राज्यपाल से विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की है

राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे (Rajasthan Congress In-Charge Avinash Pandey) ने इशारों-इशारे में बीजेपी (BJP) पर निशाना साधते हुए कहा कि विधायकों की खरीद-फरोख्त के प्रयत्न को सफल नहीं होने देंगे, संघर्ष जारी रहेगा. यह लड़ाई लोकतंत्र और षड्यंत्र की है, लोकतंत्र की ही जीत होगी

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे (Congress In-Charge Avinash Pandey) ने गहलोत सरकार के विधानसभा का सत्र (Assembly Session) बुलाने की मांग का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि सत्र में सरकार कोरोना महामारी (Corona Virus Pandemic) सहित अहम मुद्दों पर चर्चा करना चाहती है. कोरोना महामारी के विरुद्ध राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने अनुकरणीय काम किया है. उन्होंने कहा कि राजस्थान कोरोना संक्रमण और आर्थिक संकट से दोहरा मुकाबला कर रहा है. सरकार आने वाले दिनों में कोरोना से बेरोजगार हुए लोगों को राहत देने का काम करेगी.

अविनाश पांडे ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्र से विधानसभा सत्र बुलाने का आग्रह किया है. कैबिनेट की मंजूरी से सत्र बुलाने का प्रस्ताव भेजा गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्यपाल तरह-तरह की बाधाएं डालकर विधानसभा सत्र नहीं बुलाने दे रहे. आज (सोमवार) 102 विधायकों का वीडियो फेसबुक और ट्विटर पर अपलोड किया गया है, जो यह कह रहे हैं कि विधानसभा का सत्र बुलाया जाए.

राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी ने नाम लिए बिना बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि विधायकों की खरीद-फरोख्त के प्रयत्न को सफल नहीं होने देंगे, संघर्ष जारी रहेगा. यह लड़ाई लोकतंत्र और षड्यंत्र की है, लोकतंत्र की ही जीत होगी.



PCC अध्यक्ष डोटासरा बोले- राज्यपाल की आपत्ति समझ से परे
वहीं राजस्थान कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा ने भी राज्यपाल कलराज मिश्र पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि राज्यपाल अब जो क्वेरी (आपत्ति उठा) कर रहे हैं वो गलत है, राज्यपाल अब ऐसे सवाल पूछ रहे हैं जो उनकी गरिमा के प्रतिकूल है. राज्यपाल को दो बार विधानसभा सत्र बुलाने का प्रस्ताव भेजा जा चुका, अब राज्यपाल पूछ रहे हैं- आप क्या बोलेंगे, कैसे कपड़े पहनकर आएंगे, किस गेट से जाएंगे, यह कोई सवाल होता है.

डोटासरा ने कहा कि राज्यपाल ने इससे पहले चार सत्र 10 दिन से कम समय के नोटिस पर बुलाया है. यह पांचवा सत्र है, राज्यपाल इस पांचवे सत्र में 21 दिन का समय क्यों मांग रहे हैं, यह समझ से परे है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading