होम /न्यूज /राजस्थान /Rajasthan political crisis: मंत्री महेश जोशी बोले- कोई नोटिस नहीं मिला, दिल्ली में डाला डेरा

Rajasthan political crisis: मंत्री महेश जोशी बोले- कोई नोटिस नहीं मिला, दिल्ली में डाला डेरा

मंत्री महेश जोशी बोले कोई नोटिस मिला होता तो वे अवश्य पार्टी के सीनियर नेताओं से गाइडेंस लेते.

मंत्री महेश जोशी बोले कोई नोटिस मिला होता तो वे अवश्य पार्टी के सीनियर नेताओं से गाइडेंस लेते.

Rajasthan's Political Drama: राजस्थान में उठे राजनीतिक बंवडर के बाद इस मामले में पार्टी की अनुशासनहीनता के दायरे में आए ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राजस्थान राजनीतिक संकट अपडेट
गहलोत कैम्प के मंत्री महेश जोशी पहुंचे दिल्ली
मंत्री महेश जोशी ने नोटिस मिलने की बात से किया इनकार

जयपुर. राजस्थान के सियासी घटनाक्रम के दौरान विधायक दल बैठक की अवहेलना करने पर AICC की ओर से राजस्थान के तीन नेताओं को कारण बताओ नोटिस (Show cause notice) जारी होने के बाद कैबिनेट मंत्री महेश जोशी (Mahesh Joshi) दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं. दिल्ली दौरे के दौरान महेश जोशी ने शनिवार को AICC मुख्यालय में कांग्रेस महासचिव मुकुल वासनिक से मुलाकात की. मंत्री महेश जोशी ने इस मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया है. जोशी ने बताया कि उन्हें अभी तक किसी तरह का कोई नोटिस नहीं मिला है.

जोशी ने कहा कि उन्हें तो नोटिस के बारे में मीडिया और सोशल मीडिया से जानकारी प्राप्त हुई है. अगर पार्टी की तरफ से कोई नोटिस मिला होता तो वे अवश्य पार्टी के सीनियर नेताओं से गाइडेंस लेते. मुकुल वासनिक से सिर्फ शिष्टाचार भेंट हुई है. मंत्री महेश जोशी ने कहा कि वे इस घटनाक्रम के बाद कांग्रेस की ओर से जारी एडवाइजरी की वह पालना कर रहे हैं. सार्वजनिक मंच और मीडिया में किसी भी तरह की बयानबाजी से दूरी बनाने का प्रयास कर रहे हैं.

पार्टी नेता कह रहे हैं कि नोटिस मिला ही नहीं
भले ही कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान में घटित सियासी घटनाक्रम के बाद इस प्रकरण को शांत करने और पार्टी के अनुशासन का महत्व पार्टी कार्यकर्ताओं समझाने के लिए इस प्रकरण में मुख्य कसूरवार तीन नेताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किए हो. लेकिन ये तीनों नेता अभी तक किसी प्रकार का नोटिस प्राप्त नहीं होने की बात कह रहे हैं. ये नेता यहां तक कह रहे हैं कि उन्हें सिर्फ मीडिया और सोशल मीडिया से इस बात की जानकारी मिली है. अगर नोटिस मिला होता तो वे मीडिया में बयान देते या फिर नोटिस का रिप्लाई करने की सोचते.

जयपुर में 25 सितंबर को हुआ था सियासी ड्रामा
उल्लेखनीय है कि बीते 25 सितंबर को कांग्रेस आलाकमान के निर्देश पर मुख्यमंत्री की अनुमति से सीएमआर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी. विधायक दल की यह बैठक मुख्यमंत्री निवास पर शाम 7 बजे शुरू होनी थी लेकिन इससे ठीक दो घंटे पहले शाम 5 बजे कैबिनेट मंत्री शांति धारीवाल के घर कांग्रेस विधायकों की बैठक शुरू हुई. इस बैठक में करीब 92 विधायक शामिल हुए बताए जा रहे हैं.

विधायक दल की बैठक को स्थगित करना पड़ा था
मुख्यमंत्री आवास पर सीएम अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी अजय माकन और पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे विधायकों का इंतजार करते रहे लेकिन अधिकतर विधायक बैठक में आए ही नहीं. ऐसे में विधायक दल की बैठक को स्थगित करना पड़ा. पार्टी की ऑफिशियल बैठक का बायकॉट करते हुए अलग से बैठक बुलाने पर कांग्रेस आलाकमान ने इसे अनुशासनहीनता माना है. इसके लिए केबिनेट मंत्री शांति कुमार धारीवाल, महेश जोशी और RTDC चैयरमेन धर्मेन्द्र राठौड़ को जिम्मेदार मानते हुए उन्हें 10 दिन के भीतर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है.

Tags: Jaipur news, Rajasthan Congress, Rajasthan news, Rajasthan Politics

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें