कांग्रेस का दावा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नयी रोशनी लेकर आया
Jaipur News in Hindi

कांग्रेस का दावा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नयी रोशनी लेकर आया
कांग्रेस ने इसे राजस्‍थान की 8 करोड़ जनता की जीत बताया है.

Rajasthan Politics: विधानसभा में अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने विश्वास मत हासिल कर लिया है. इसके साथ विधानसभा 21 अगस्त तक स्थगित कर दी गयी है. जबकि कांग्रेस अब भाजपा पर हमलावर हो गयी है.

  • Share this:
जयपुर/ नई दिल्‍ली. राजस्थान विधानसभा में अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) के बहुमत साबित करने के बाद कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि यह विश्वासमत प्रजातंत्र के कई कोनों में व्याप्त अंधकार को दूर करने के लिए नयी रोशनी लेकर आया है. कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने ट्वीट किया, ‘आज प्रजातंत्र के कई कोनों में व्याप्त अंधकार के लिए राजस्थान का 'विश्वासमत' एक 'नयी रोशनी' लेकर आया है. राजस्थान के 8 करोड़ नागरिकों के विकास की असीम संभावनाओं का विश्वास नफ़रत, नकारात्मकता और निराशा को परास्त कर जीत गया है.

भाजपा को लेकर कही ये बात
रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘देश भर में बहुमत का चीरहरण करने वाली केंद्र सरकार व भाजपा यह जान ले कि राजस्थान ने कभी हार नहीं मानी है, राजस्थान कभी हारा नहीं है. हम गोरे अंग्रेजों से लड़े तो आखिरी सांस तक लड़े. आज के काले अंग्रेजों से लड़ कर भी संविधान व प्रजातंत्र की रक्षा करेंगे.यही विश्वासमत की जीत का सबक़ है.’

कांग्रेस ने किया ये दावा
इसके अलावा सुरजेवाला ने दावा किया कि राजस्थान के नेता प्रतिपक्ष गुलाब कटारिया जी ने मान ही लिया कि उनके पास केवल 75 विधायक ही हैं. कांग्रेस के पास स्पष्ट 123 विधायकों का समर्थन साफ़ हुआ. अपने उपनेता राजेंद्र राठौड़ का कल का अविश्वास का दावा खुद ही ख़ारिज किया. उन्होंने कहा, ‘षड्यंत्र विफल, राजस्थान जीता. सत्यमेव जयते!’



गौरतलब है कि राजस्थान में करीब एक महीने चली सियासी खींचतान के बाद अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने शुक्रवार को विधानसभा में विश्वास मत जीत लिया. सदन ने सरकार द्वारा लाए गए विश्वास मत प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित कर दिया. इसके साथ ही सदन की कार्यवाही 21 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी गई है.

बीजेपी पर जमकर साधा निशाना
सदन में विश्वास मत प्रस्ताव पर हुए बहस का सीएम अशोक गहलोत ने जमकर जवाब दिया. बीजेपी पर निशाना साधते हुए सीएम गहलोत ने कहा, 'राजस्थान में फोन टैपिंग की परम्परा नहीं रही है. सरकार गिराने का पूरा षड्यंत्र था. देश में लोकतंत्र खतरे में है. केवल 2 लोग राज कर रहे हैं. सीएम गहलोत ने कहा कि बीजेपी के लोग बगुला भक्त बन रहे हैं. तंज कसते हुए उन्होंने कहा, 100 चूहे खाकर बिल्ली हज को चली. मैं 69 साल का हो गया, 50 साल से राजनीति में हूं. मैं आज लोकतंत्र को लेकर चिंतित हूं. उन्होंने बताया कि भैरोंसिंह शेखावत सरकार को गिराने का षड्यंत्र हुआ था. मैं उस समय पीसीसी चीफ था. मैं पीएम और राज्ययपाल के पास गया. मैंने षड्यंत्र में शामिल होने से इनकार किया. मैंने चुनी हुई सरकार को गिराने से इनकार किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज