Rajasthan Polls: वसुंधरा की 'राजस्थान गौरव यात्रा' में बड़ी चुनौती होंगे राजपूत!

राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनावों में बीजेपी की विजय और वसुंधरा के संकल्प के सामने जो चुनौती सबसे बड़ी है वो हैं राजपूत.

sambrat chaturvedi | News18Hindi
Updated: August 2, 2018, 4:49 PM IST
Rajasthan Polls: वसुंधरा की 'राजस्थान गौरव यात्रा' में बड़ी चुनौती होंगे राजपूत!
राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे.
sambrat chaturvedi
sambrat chaturvedi | News18Hindi
Updated: August 2, 2018, 4:49 PM IST
राजस्थान की राजनीति में भैरोंसिंह शेखावत के बाद बीजेपी को जो बहुमत और सत्ता सुलभ हुई है वो मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के दमखम से हुई है. 2003 में वसुंधरा की 'परिवर्तन यात्रा' के बाद 200 में से 120 सीटों पर बीजेपी विजयी रही थी. 2013 में 'सुराज संकल्प यात्रा' के बाद पार्टी को प्रचंड बहुमत मिला और 163 विधानसभा सीटों पर कमल खिला और ऐसी ही महत्वाकांक्षा से वसुंधरा इस वर्ष फिर से 'राजस्थान गौरव यात्रा' पर निकलने वाली हैं. लेकिन वर्तमान परिस्थितियों में बीजेपी की विजय और वसुंधरा के संकल्प के सामने जो चुनौती सबसे बड़ी है वो हैं राजपूत.


बीजेपी के परम्परागत वोट माने वाले राजपूत समाज का विरोध चुनावी साल में और बढ़ रहा है और जातीय समीकरणों में सियासी बिसात पर बाजी उलझती जा रही है. पार्टी प्रदेशाध्यक्ष की 2 महीने से अटकी नियुक्ति पार्टी के भीतर और बाहर की सियासत की पोल खोल रही है. ऐसे में विधानसभा चुनाव से पहले राजपूत समाज की सरकार के खिलाफ घेराबंदी की तैयारी वसुंधरा राजे और पार्टी दोनों पर भारी पड़ सकती है.



वसुंधरा के खिलाफ राजपूतों की धिक्कार रैली

राजपूत और रावणा राजपूत समाज विभिन्न मुद्दों पर वसुंधरा राजे सरकार से खफा है. आनंदपाल एनकाउंटर और पद्मावती जैसे मसलों पर राजपूत समाज सराकर के खिलाफ जिस कदर मैदान में उतरा था उससे आगामी चुनाव पर असर से इनकार नहीं किया जा सकता. बीजेपी सरकार के खिलाफ यहीं समाज अब वादाखिलाफी के विरोध में आंदोलन पर उतर आया है. समाज आगामी दिनों में गांव, तहसील और जिला स्तर पर बीजेपी धिक्कार सम्मेलन करने जा रहा है. अक्टूबर में समाज की जयपुर में वसुंधरा धिक्कार रैली भी प्रस्तावित है.



 

समाज की संघर्ष समिति के प्रदेश संयोजक गिरिराज सिंह लोटवाड़ा के अनुसार धिक्कार सम्मेलनों में 'वसुंधरा मुक्त राजस्थान', 'कमल का फूल हमारी भूल' की शपथ दिलाई जाएगी. इन सम्मेलनों के बाद अक्टूबर में 5 लाख से अधिक समाज के लोग जयपुर में वसुंधरा धिक्कार रैली में शामिल होंगे.


चुनाव से पहले इसी महीने चुनौती शुरू

संघर्ष समिति के प्रदेश प्रवक्ता दुर्ग सिंह खींवसर के अनुसार जयपुर में वसुंधरा धिक्कार रैली में लोगों को जुटाने के लिए 24 जून को सामाजिक सद्भावना दिवस मनाया जाएगा. अगले दिन 25 जून को जैसलमेर में वसुंधरा धिक्कार सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा.


पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर