लाइव टीवी

प्रदेशभर में धरना-प्रदर्शन, फिर आंदोलन की राह पर रोडवेज कर्मचारी

Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: October 10, 2019, 4:40 PM IST
प्रदेशभर में धरना-प्रदर्शन, फिर आंदोलन की राह पर रोडवेज कर्मचारी
कर्मचारी प्रदेशभर के डिपो मुख्यालय और बस स्टैंड पर धरने पर बैठे हैं.

सातवें वेतन आयोग (7th Central Pay Commission) सहित अन्य मांगों को लेकर राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम (Rajasthan State Road Transport Corporation) के कर्मचारी प्रदेशभर के डिपो मुख्यालय और बस स्टैंड पर धरने पर बैठे हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान राज्य का सबसे बड़ा बस परिवहन सिस्टम (RSRTC) एक बार फिर सरकार के खिलाफ धरने-प्रदर्शन पर उतर आया है. हम बात कर रहे हैं राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम (Rajasthan State Road Transport Corporation) और उसके कर्मचारियों की. प्रदेशभर के डिपो मुख्यालय और बस स्टैंड पर बुधवार को कर्मचारी धरने पर बैठे हैं. जयपुर में सिंधीकैंप बस स्टैंड (Sindhi Camp Bus Stand) पर भी रोडवेज कर्मचारियों का धरना (Roadways employees protest) जारी है. रोडवेज के संयुक्त मोर्चे के बैनर तले दिए जा रहे इस धरने के जरिए कर्मचारी सातवें वेतन आयोग (7th Central Pay Commission) सहित अन्य मांगों को लेकर सरकार का ध्यान आकर्षित करन चाहते हैं. मोर्चे के पदाधिकारियों की मानें तो सरकार अब भी उनकी मांगों पर ध्यान नहीं देती है और प्रदेशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा.
मांगे नहीं मानने पर दी जल भी त्यागने की चेतावनी
रोडवेज परिचालक राजीव शर्मा का यह बयान अपने आप में सत्ता में बैठे हुक्कमरानों को सीधी चुनौती है. कई कर्मचारी सिंधी कैंप बस स्टैण्ड पर धरने पर बैठे हैं. कर्मचारियों का कहना है कि मांगे नहीं मानी गई तो वो आंदोलन करेंगे.
ये हैं रोडवेज परिचालक की मांगें

सातवां वेतन आयोग लागू हो
 सेवानिवृत कर्मियों के बकाया का जल्द भुगतान हो
 रोडवेज के लिए नई बसों की खरीद हो
Loading...

 संविदाकर्मियों को जल्द नियमित किया जाए
 रोडवेजकर्मियों को दीपावली बोनस दिया जाए
ये भी पढ़ें- 
उपचुनाव को लेकर सचिन पायलट का बड़ा दावा, कांग्रेस पड़ेगी BJP और RLP पर भारी
Viral Video- बीजेपी विधायक की देवी के दरबार में अजब-गजब प्रार्थना

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...