राजस्थान : सचिन पायलट खेमे के MLA वेद प्रकाश सोलंकी ने उठाई मंत्रिमंडल विस्तार की मांग

एससी वर्ग से ताल्लुक रखने वाले विधायक वेद सोलंकी ने यह मांग भी उठाई कि एससी-एसटी विधायकों को अच्छे महकमे मिलने चाहिए.

एससी वर्ग से ताल्लुक रखने वाले विधायक वेद सोलंकी ने यह मांग भी उठाई कि एससी-एसटी विधायकों को अच्छे महकमे मिलने चाहिए.

चाकसू विधायक वेद सोलंकी ने कहा है कि किसी विधायक का नाम गुट विशेष से जोड़कर सचाई छिपाने का प्रयास नहीं होना चाहिए और जल्द राजनीतिक नियुक्तियां और मंत्रिमंडल विस्तार होना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 8:32 PM IST
  • Share this:
जयपुर. बुधवार को सामने आए पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बयान के बाद राजस्थान (Rajasthan) में जल्द मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion) और राजनीतिक नियुक्तियों की मांग जोर पकड़ रही है. पायलट खेमे के विधायक मुखर होकर यह मांग उठाने लगे हैं. चाकसू विधायक वेद सोलंकी ने कहा है कि किसी विधायक का नाम गुट विशेष से जोड़कर सचाई छिपाने का प्रयास नहीं होना चाहिए और जल्द राजनीतिक नियुक्तियां और मंत्रिमंडल विस्तार होना चाहिए. सोलंकी ने कहा कि भले किसी भी गुट के विधायक या कार्यकर्ताओं की नियुक्तियां हों, लेकिन यह काम जल्दी किया जाना जरूरी है. उन्होंने कहा कि सरकार का ढाई साल निकल गया है और अब कार्यकर्ताओं ने उम्मीद ही छोड़ दी है कि हमें कुछ मिलेगा. जिन कार्यकर्ताओं के बूते सरकार बनी थी, उनका और विधायकों का वक्त जाया हो रहा है. सोलंकी ने मुख्यमंत्री के साथ ही पार्टी आलाकमान से भी यह कार्य शीघ्र पूरा किए जाने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि नियुक्तियां होने से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ेगा.

कार्यों में आ रही हैं दिक्कतें

वेद सोलंकी ने कहा कि प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियां नहीं होने से लोगों को कार्य करवाने में दिक्कतें आ रही हैं. पिछले काफी समय से कई लोग यह मांग उठा चुके हैं. अब आम कार्यकर्ता भी कह रहा है कि जल्द से जल्द राजनीतिक नियुक्तियां होनी चाहिए, मंत्रिमंडल विस्तार होना चाहिए. अभी कई महकमों के मंत्री ही नहीं होने से लोगों के काम नहीं हो पा रहा है. काम का जितना ज्यादा विकेन्द्रीकरण होगा उतना ही लोगों को फायदा मिलेगा.

एसटी-एसटी को मिले मजबूत महकमे
एससी वर्ग से ताल्लुक रखने वाले विधायक वेद सोलंकी ने यह मांग भी उठाई कि एससी-एसटी विधायकों को अच्छे महकमे मिलने चाहिए. इस वर्ग से आने वाले विधायकों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा कि एससी-एसटी और अल्पसंख्यकों के वोटों से सरकार बनी है और केवल नाममात्र के महकमे दिए जाने से समाज और जनता में सही मेसेज नहीं जाता है. सोलंकी ने कहा कि अभी मुख्यधारा के सभी डिपार्टमेंट दूसरे लोगों के पास हैं. एससी-एसटी विधायकों के पास कोई महत्वपूर्ण महकमा नहीं है. उन्होंने कहा कि एससी-एसटी वर्ग के काम नहीं रुक रहे हैं, लेकिन जिस तेजी से होने चाहिएं वैसे नहीं हो पा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज