• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान: 2 अगस्त से स्कूल खुलने पर संशय, अब मंत्रियों की कमेटी करेगी निर्णय

राजस्थान: 2 अगस्त से स्कूल खुलने पर संशय, अब मंत्रियों की कमेटी करेगी निर्णय

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 5 मंत्रियों की समिति गठित की है जो शिक्षण संस्थान खोलने की तारीख पर निर्णय करेगी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 5 मंत्रियों की समिति गठित की है जो शिक्षण संस्थान खोलने की तारीख पर निर्णय करेगी.

Rajasthan schools: प्रदेश में 2 अगस्त से स्कूल खुलने की संभावना नहीं है. इस पर संशय के बादल मंडराने लगे हैं. गुरुवार को शिक्षा मंत्री डोटासरा ने 2 अगस्त से स्कूल खोलने का ऐलान किया था लेकिन अभिभावकों ने इस फैसले का विरोध किया था.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में 2 अगस्त से स्कूल खुलने पर संशय हो गया है. अब मंत्रियों की कमेटी स्कूल खुलने की तारीख पर निर्णय करेगी. सीएम गहलोत ने पांच मंत्रियों की समिति की गठित की है. कल शिक्षा मंत्री डोटासरा ने 2 अगस्त से स्कूल खोलने का ऐलान किया था लेकिन इस फैसले का अभिभावकों द्वारा विरोध देखने को मिला.

सीएम अशोक गहलोत ने पांच मंत्रियों की एक समिति गठित की है उसमें चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया, शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा, उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी और तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग को शामिल किया गया है. गौरतलब है कि कल हुई राज्य मंत्रिपरिषद् की बैठक में शिक्षण संस्थाओं को खोलने का सैद्धान्तिक निर्णय लिया गया था. अब यह समिति शिक्षण संस्थाओं को खोलने की तारीख के साथ ही गाइडलाइन पर निर्णय करेगी. मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर गहन विचार कर इस पर निर्णय लिया जाना चाहिए. इसके लिए मंत्रियों की समिति भारत सरकार के स्वास्थ्य और मानव संसाधन मंत्रालयों, आईसीएमआर और शिक्षण संस्थान खोल चुके दूसरे राज्यों से सम्पर्क कर उनके अनुभव और फीडबैक पर चर्चा करेगी.

यह कहा विशेषज्ञों ने
मुख्यमंत्री ने आज वीसी के जरिए हुई बैठक में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के उपायों और शिक्षण संस्थानों को खोलने की एसओपी पर विशेषज्ञों के साथ भी चर्चा की. बैठक में विशेषज्ञों ने देश-दुनिया में कोविड संक्रमण की स्थिति, बच्चों पर इसके प्रभाव और आगामी दिनों में संक्रमण की आशंका पर विस्तार से जानकारी दी. बैठक में विशेषज्ञों ने सलाह दी कि शिक्षण संस्थानों में सभी शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक स्टाफ का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाना चाहिए. इसके साथ ही बच्चों के परिवहन के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले वाहनों के ड्राइवर और सम्पर्क में आने वाले अन्य व्यक्तियों का भी टीकाकरण किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल की पालना के लिए विस्तृत गाइडलाइन जारी की जानी चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज