'पद्मावती' विवाद पर अब महिला आयोग ने सेंसर बोर्ड को लिखी चिट्ठी

Dinesh Sharma | ETV Rajasthan
Updated: November 15, 2017, 1:06 PM IST
'पद्मावती' विवाद पर अब महिला आयोग ने सेंसर बोर्ड को लिखी चिट्ठी
'पद्मावती' के विरोध को देखते हुए राज्य महिला आयोग ने सेंसर बोर्ड को चिट्‌ठी लिखी.
Dinesh Sharma | ETV Rajasthan
Updated: November 15, 2017, 1:06 PM IST
राजस्थान में अपकमिंग फिल्म 'पद्मावती' के विरोध को देखते हुए राज्य महिला आयोग ने सेंसर बोर्ड  को चिट्‌ठी लिखी है. इस चिट्‌ठी के जरिए आयोग अध्यक्ष सुमन शर्मा ने बोर्ड से फिल्म की मंजूरी से पहले आंदोलनरत समाज के प्रतिनिधियों से सहमति बनाने की बात कही है.

आयोग की ओर से भेजी गई इस चिट्‌ठी में कहा गया है कि फिल्म को लेकर देश में बड़े स्तर पर विवाद हो रहा है. देश-प्रदेश में लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ने की आशंका है. लिहाजा पहले संबंधित पक्षों से बात की जाए और सहमति बनने के बाद ही फिल्म के प्रदर्शन को मंजूरी दी जाए.

उधर, हिंदू जागृति समिति ने आज सेंसर बोर्ड को पत्र लिखकर कहा है कि संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को सेंसर बोर्ड की ओर से पास सर्टिफिकेट न दिया जाए. अगर ये फिल्म थिएटर में रिलीज होती है तो फिर इस फिल्म को लेकर लोगों द्वारा विरोध से हुए नुकसान की जिम्मेदारी सेंसर बोर्ड की होगी.

अपने पत्र में इस समिति ने कहा है कि भंसाली ने फिल्म ‘पद्मावती’ में भारत की संस्कृति, मान मर्यादा, इसके गौरवशाली इतिहास और यहां के सम्मानजनक राजा और रानियों का अपमान किया है. फिल्म के ट्रेलर में भारत के इतिहास के साथ भी खिलवाड़ किया गया है. इसलिए फिल्म को सेंसर की तरफ से पास का प्रमाण देने से पहले उन्हें इन बातों पर भी विचार करना चाहिए.

 
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर