होम /न्यूज /राजस्थान /ऑर्गन ट्रांसप्लांट के क्षेत्र में मॉडल बनेगा राजस्थान, NTORC सेंटर में तब्दील होंगे 18 मेडिकल कॉलेज

ऑर्गन ट्रांसप्लांट के क्षेत्र में मॉडल बनेगा राजस्थान, NTORC सेंटर में तब्दील होंगे 18 मेडिकल कॉलेज

Rajasthan Latest News:  राजस्थान के 18 मेडिकल कॉलेजों को एनटीओआरसी में कन्वर्ट किया जाएगा.

Rajasthan Latest News: राजस्थान के 18 मेडिकल कॉलेजों को एनटीओआरसी में कन्वर्ट किया जाएगा.

Rajasthan News: राजस्थान आने वाले दिनों में ऑर्गन ट्रांसप्लांट (Organ Transplant)ट के क्षेत्र में मॉडल बनेगा. प्रदेश के ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राजस्थान में फिलहाल 2 सरकारी मेडिकल कॉलेज है ट्रांसप्लांट सेंटर
4 मेडिकल कॉलेज में है नॉन ट्रांसप्लांट ऑर्गन रिट्राइवल सेंटर
NTORC सेंटर से ऑर्गन निकाल कर ट्रांसप्लांट सेंटर भेजे जाते हैं

जयपुर. ऑर्गन ट्रांसप्लांट के लिए सरकारी क्षेत्र में राजस्थान को मॉडल बनाने की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं. प्रदेश के 6 में से दो मेडिकल कॉलेजों को ट्रांसप्लांट सेंटर बनाया जा चुका है तो 4 मेडिकल कॉलेज नॉन ट्रांसप्लांट ऑर्गन रिट्राइवल सेंटर बनाए जा चुके हैं. आने वाले समय में एक ओर जहां प्रदेश 18 मेडिकल कॉलेजों को भी एनटीओआरसी में कन्वर्ट किया जाएगा तो ट्रांसप्लांट के लिए चिकित्सकों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है. विभिन्न बीमारियों के चलते अब मरीजों में ऑर्गन ट्रांसप्लांट की जरूरत बढ़ती जा रही है. राजस्थान में साल 2015 से ऑर्गन ट्रांसप्लाट का कार्यक्रम लागू किया गया था. इसके बाद साल 2019 में नेशनल ऑर्गन टिश्यू ऑर्गनाईजेशन ने प्रदेश में सोटो यानि स्टेट ऑर्गन टिश्यू ऑर्गनाईजेशन की स्थापना की थी.

इसके बाद किड़नी,लिवर,हार्ट समेत अन्य अंगों का ट्रांसप्लांट धीरे-धीरे सुलभ होने लगा है, लेकिन ट्रांसप्लांट के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी के चलते अब राजस्थान को ट्रांसप्लांट के क्षेत्र में मॉडल बनाने के लिए प्रयास तेज किए जा रहे हैं. इस कड़ी में जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज और जोधपुर मेडिकल कॉलेज को पहले ही ट्रांसप्लांट सेंटर बनाया जा चुका है. इसके अलावा अजमेर, बीकानेर ,कोटा और झालावाड,उदयपुर मेडिकल कॉलेज को नॉन ट्रांसप्लांट ऑर्गन रिट्राइवल सेंटर बनाया जा चुका है. स्टेट ऑर्गन ट्रांसप्लांट ऑर्गनाइजेशन के नोडल अधिकारी डॉ.मनीष शर्मा ने बताया कि आने वाले समय में 18 मेडिकल कॉलेजों को भी नॉन ट्रांसप्लांट ऑर्गन रिट्राइवल सेंटर बनाया जाएगा.

इन मेडिकल कॉलेज को जल्द किया जाएगा  ट्रांसप्लांट सेंटर में तब्दील
स्टेट ऑर्गन ट्रांसप्लांट ऑर्गनाइजेशन के नोडल अधिकारी डॉ.मनीष शर्मा ने बताया कि अजमेर, बीकानेर, कोटा और झालावाड,उदयपुर मेडिकल कॉलेज को जल्द ही ट्रांसप्लांट सेंटर में तब्दील किया जाएगा. उन्होंने बताया कि नॉन ट्रांसप्लांट ऑर्गन रिट्राइवल सेंटर में एक कमेटी होती है जो मरीज को ब्रेनडेड घोषित करती है. इसके बाद इन सेंटर्स पर ऑर्गन रिट्राइव किया जाता हैं, जिन्हें ट्रांसप्लांट सेंटर भेजा जाता है. उन्होंने बताया कि ऑर्गन ट्रांसप्लांट के लिए चिकित्सकों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:  राजस्थान के इस ‘गोपीनाथ मंदिर’ का इतिहास, जहां रात में कोई नहीं रुकता! जानें रहस्य

दरअसल, प्रदेश में चुनिंदा सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में भी ऑर्गन ट्रांसप्लांट किए जा रहे हैं. लेकिन निजी अस्पतालों में ट्रांसप्लांट का खर्चा बहुत आता है. ऐसे में राज्य सरकार ने  चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में ट्रांसप्लांट को शामिल कर बड़ी राहत दी है. अब कोशिश यह है कि ज्यादा से ज्यादा अस्पतालों में ट्रांसप्लांट की सुविधाएं विकसित करना ताकि ज्यादा से ज्यादा मरीजों को फायदा मिल पाए.

Tags: Jaipur news, Organ transplant, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें