लाइव टीवी

ACB की कार्रवाई के बाद CM गहलोत से मिले परिवहन मंत्री, कहा- 'मुझे सफाई देने की जरूरत नहीं'
Jaipur News in Hindi

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: February 18, 2020, 12:50 PM IST
ACB की कार्रवाई के बाद CM गहलोत से मिले परिवहन मंत्री, कहा- 'मुझे सफाई देने की जरूरत नहीं'
ACB की कार्रवाई के बाद मंगलवार को परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने पहुंचे.

परिवहन विभाग के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) की कार्रवाई के बाद मंगलवार को परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास (Pratapsingh Khachariyawas) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) से मिलने पहुंचे.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) के परिवहन विभाग के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) की कार्रवाई के बाद मंगलवार को परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास (Pratapsingh Khachariyawas) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) से मिलने पहुंचे. सीएम से मिलने के बाद परिवहन मंत्री ने कहा कि 'मुझे किसी को कोई सफाई देने की जरूरत नहीं है, सीएम और डिप्टी सीएम से मुलाकात रोज होती रहती है.' उन्होंने यह भी कहा कि 'एसीबी हमारे अंडर में है, हम एसीबी के अंडर में नहीं हैं'. खाचरियावास का कहना है कि किसी को गलतफहमी नहीं हो एसीबी गृह विभाग के अंडर में है. बिना सीएम और मंत्री की इच्छा के एसीबी कोई कार्रवाई नहीं करती.

बता दें कि एसीबी ने रविवार को परिवहन विभाग में दलालों के जरिए वाहन मालिकों को डरा-धमकाकर मासिक बंधी वसूलने का बड़ा खुलासा करते हुए करीब 1.5 करोड़ नकद बरामद किया था. इसके लिए 4 महीने तक 22 फोन ट्रैप किए गए और फिर 18 टीमों का गठन कर एक साथ कार्रवाई को अंजाम दिया गया. इस पूरी कार्रवाई 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया इनमें 8 परिवहन विभाग के अफसर शामिल हैं.

'निर्दोष को डरने की जरूरत नहीं है'
परिवहन मंत्री ने कहा, 'मेरी मां ने मेरा नाम प्रताप सोच समझकर रखा है, मुझे लड़ना भी आता है और मरना भी, आक्रमण से बड़ा कोई बचाव नहीं होता, मैंने हमेशा जनता के लिए लड़ाई लड़ी है, जनता के लिए सड़कों पर लड़ा हूं, मैं लड़ना और मरना जनता हूं. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार ने कार्रवाई की है, निर्दोष को डरने की जरूरत नहीं है. हालांकि उन्हाेंने ने बजट सत्र के दौरान एसीबी कार्रवाई पर भी सवाल उठाए हैं.



किस अधिकारी के पास कितनी नकदी मिली
एसीबी की कार्रवाई के दौरान ली गई तलाशी में गजेन्द्र सिंह परिवहन निरीक्षक के यहां से 25 हजार रुपए नकद, विनय बंसल, डीटीओ के यहां से 4 लाख 58 हजार रुपए नकद, शिवचरण, परिवहन निरीक्षक के यहां से 3 लाख 34 हजार रुपए नकद, रतन लाल, परिवहन निरीक्षक के यहां से 1 लाख 87 हजार रुपए नकद, उदयवीर परिवहन निरीक्षक के यहां से 40 हजार रुपए रिश्वत राशि, नवीन जैन, परिवहन उप निरीक्षक के यहां से 1 लाख 45 हजार रुपए नकद, जसवन्त सिंह, बस संचालक गोल्ड लाइन ट्रान्सपोर्ट कम्पनी के यहां से 1 करोड़ 11 लाख रुपए नकद, ममता पत्नी योगेश कुमार उर्फ बन्टी-तनुश्री लॉजिस्टिक के यहां से 4 लाख 96 हजार 500 रुपए नकद, विष्णु कुमार निवासी कमला नेहरू नगर से 4 लाख 27 हजार 500 रुपए नकद, मनीष प्राईवेट व्यक्ति के यहां से 1 लाख 20 हजार रुपए नकद, राजकुमार यादव, निवासी जयपुर के यहां से 1 लाख 82 हजार रुपए की राशि नकद बरामद हुई है. सभी आरोपियों से अब तक एसीबी द्वारा रिश्वत लेन-देन सबंधी काफी रिकॉर्ड और कुल 1.5 करोड़ रुपए की बरामदगी की जा चुकी है.

ये भी पढ़ें- 

हाईवे पर कबूतरों का हैरतअंगेज VIDEO वायरल,देखें-गाड़ी का पीछा करते पर परिंदे

Jaipur Today: वैलेंटाइन थीम पर सेलिब्रेशन, राजस्थान विधानसभा में होगी बहस

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 12:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर