Home /News /rajasthan /

राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव प्रचार बंद, अंतिम दिन झौंकी पूरी ताकत

राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव प्रचार बंद, अंतिम दिन झौंकी पूरी ताकत

राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई और एबीवीपी ने आखिरी दिन प्रचार में अपनी ताकत झौंकी.

राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई और एबीवीपी ने आखिरी दिन प्रचार में अपनी ताकत झौंकी.

राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई और एबीवीपी ने आखिरी दिन प्रचार में अपनी ताकत झौंकी.

    राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई और एबीवीपी ने आखिरी दिन प्रचार में अपनी ताकत झौंकी.

    26 अगस्‍त को चुनाव

    राजस्‍थान में बुधवार 26 अगस्‍त को सभी कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में एक साथ छात्रसंघ चुनाव होंगे. दोनो ही संगठनों ने राजस्थान विश्वविद्यालय के लिए अपने अपने मैनिफेस्टो जारी कर कैम्पस के कुरूक्षेत्र में जीत हासिल करने दावे किए.

    प्रचार में झौंकी पूरी ताकत

    प्रदेशभर के छात्रसंघ चुनावों में प्रचार के आखिरी दिन कैम्पस में एनएसयूआई और एबीवीपी ने जोर शोर से प्रचार किया. दोनों ही प्रमुख संगठनों ने आरयू के चुनावी कुरूक्षेत्र में उतरने से पहले अपनी घोषणाएं कर मतदाताओं को लुभाने का प्रयास भी किया.

    छोटे बजट में बड़े वादे

    छात्रसंघ चुनाव में चुनावी घोषणा पत्र में कैम्पस में वाई फाई, आधुनिक पुस्तकालय, स्‍कॉलरशिप, प्लेसमेंट सेल  और छात्रावास सुविधाओं में बढोतरी जैसे मुद्दे दोनो संगठनों ने अपने मैनिफेस्टों में शामिल किए हैं.

    एबीवीपी को जीत का भरोसा

    एक ओर, एबीवीपी जातिगत समीकरणों से इतर अपनी चुनावी गणित को हल करने में जुटी हैं. वहीं उन्हें कैम्पस में की गई अपनी घोषणाओं पर उन्हें पूरा भरोसा हैं. एबीवीपी के प्रदेश संगठन मंत्री मिथलेश गौतम ने अपने पच्चीस सूत्रीय घोषणा पत्र में एबीवीपी ने छात्रहितों से जुडी हर समस्या पर फोकस किए जाने की बात कही हैं.

    एनएसयूआई ने तैयारी की रणनीति

    वहीं इधर, एनएसयूआई ने भी आरयू में अपनी जीत के दोहराव को लेकर रणनीति तैयार कर ली हैं. पिछले साल की ऐतिहासिक जीत का खिताब बरकरार रखने के लिए संगठन ने कैम्पस में की गई उपलब्धियों को भी मतदाताओं के सामने रखा. हालांकि कम कार्यकाल के चलते सभी घोषणाओं को पूरा नहीं करने को लेकर एनएसयूआई ने अगले कार्यकाल में अपने सभी वादें पूरे के करने का भरोसा दिलाया. जबकि बागियों के खतरों को दरकिनार कर संगठन पूरी मजबूती के साथ जीत के लिए चुनावी जंग में उतरने के दावे किए हैं.

    मुख्‍य संगठन सक्रिय

    दोनों छात्र संगठनों ने अपने पूर्व छात्रसंघ पदाधिकारियों और नेताओं को एकजुट करने का प्रयास किया हैं. वहीं, कैम्पस के बाहर कांग्रेस और बीजेपी से जुडे नेता भी छात्रसंघ चुनावों में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं. बहरहाल, इन चुनावों में अब देखना यही है कि युवा मन किस ओर इशारा करता हैं. इसकी तस्वीर  26 अगस्त को साफ हो जाएगी.

    Tags: Election, Nsui, Rajasthan University, जयपुर, राजस्थान

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर