राजस्थान: अलका गुर्जर को राष्ट्रीय मंत्री बनाए जाने के पीछे क्या है वजह, यहां पढ़ें इनसाइड स्टोरी

जानकारों का कहना है कि ओम माथुर को अलग से कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है. (फाइल फोटो)
जानकारों का कहना है कि ओम माथुर को अलग से कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है. (फाइल फोटो)

राजस्थान में जेपी नड्डा की टीम में बतौर राष्ट्रीय मंत्री पद पर डॉ. अलका गुर्जर (Dr. Alka Gurjar) को जगह मिली है. वर्तमान में अलका गुजर प्रदेश उपाध्यक्ष भी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 10:08 AM IST
  • Share this:
जयपुर. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (Jagat Prakash Nadda) ने शनिवार को अपनी नई टीम की घोषणा कर दी. लगभग 8 महीने बाद नई टीम में कई नए चेहरों को शामिल किया गया है तो कई नेताओं की छुटी भी हुई है. राजस्थान की बात करें तो प्रदेश से वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर बरकरार रखा है, लेकिन ओम माथुर (Om Mathur) को नड्डा की टीम में जगह नहीं मिली. इधर सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है. वहीं, डॉक्टर अलका गुर्जर की भाजपा का राष्ट्रीय मंत्री पद पर नियुक्ति हुई है.

वहीं, जानकारों का कहना है कि ओम माथुर को अलग से कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है, क्योंकि वे राजस्थान में संगठन महामंत्री और प्रदेशाध्यक्ष समेत कई राज्यों के प्रभारी रहे हैं. साथ ही सांसद भूपेंद्र यादव को राष्ट्रीय महामंत्री का पद बरकरार रखा गया है.

राष्ट्रीय मंत्री पद पर डॉ अलका गुर्जर को जगह मिली है
इधर राजस्थान में जेपी नड्डा की टीम में बतौर राष्ट्रीय मंत्री पद पर डॉ अलका गुर्जर को जगह मिली है. वर्तमान में अलका गुजर प्रदेश उपाध्यक्ष पद पर हैं. प्रवक्ता और विधायक रही हैं लेकिन राजस्थान में चले सियासी घटनाक्रम के बाद गुर्जर समुदाय कांग्रेस से नाराज चल रहा है. विधानसभ चुनाव में गुर्जरों के कांग्रेस की तरफ चले जाने की वजह से भाजपा को खासा नुकसान हुआ था. ऐसे में डॉ. अलका गुर्जर को राष्ट्रीय मंत्री बनाकर गुर्जरों को खुश करने की कवायद के तौर पर भी देखा जा रहा है. इधर पूर्व केंद्रीय मंत्री और जयपुर ग्रामीण से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया गया है. हालांकि, राज्यवर्धन के केंद्रीय कैबिनेट में शामिल होने की चर्चा थी, लेकिन संगठन में उनको शामिल किया गया है.
लाल सिंह आर्य को एससी मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया


वहीं, राजस्थान के पड़ोसी राज्या मध्य प्रदेश की बात करें तो केंद्रीय टीम में अभी तक एमपी से जुड़े नेताओं में प्रभात झा, शिवराज सिंह, उमा भारती और विनय सहस्त्रबुद्धे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष थे. हालांकि, शिवराज सिंह के मुख्यमंत्री बनने के बाद ये स्वाभाविक माना जा रहा था कि उन्हें संगठन के काम से फिलहाल मुक्त किया जा सकता है. इसके अलावा राष्ट्रीय सचिव पद से ज्योति धुर्वे (Jyoti Dhurve) भी बाहर हुई हैं. कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) का राष्ट्रीय महासचिव पद बरकरार रहा है. जबकि आदिवासी नेता ओम प्रकाश धुर्वे राष्ट्रीय मंत्री बनाए गए हैं. ग्वालियर चम्बल से आने वाले नेता लाल सिंह आर्य को एससी मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया, जबकि सांसद सुधीर गुप्ता सह कोषाध्यक्ष बनाए गए हैं .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज