लाइव टीवी

Rajasthan Budget 2020: टिड्डी हमले से हुए फसल खराबे से परेशान किसानों को मिलेगी राहत!
Jaipur News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 19, 2020, 7:37 PM IST
Rajasthan Budget 2020: टिड्डी हमले से हुए फसल खराबे से परेशान किसानों को मिलेगी राहत!
राज्य बजट में राहतभरी सौगात मिल सकती है.

राजस्थान के सीमावर्ती जिलों में टिड्‌डी दलों के हमले का शिकार (worst hit by locusts) हुए किसानों को गुरुवार को राज्य बजट (rajasthan budget 2020) में राहतभरी सौगात मिल सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2020, 7:37 PM IST
  • Share this:
जयपुर. पश्चिमी राजस्थान के सीमावर्ती जिलों में टिड्‌डी दलों के हमले का शिकार (worst hit by locusts) हुए किसानों को गुरुवार को राज्य बजट (rajasthan budget 2020) में राहतभरी सौगात मिल सकती है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (ashok gehlot) अपने इस दूसरे बजट में टिड्‌डी हमले से पीड़ित किसानों को फसल खराबे के मुआवजे या राहत भरी घोषणा कर सकते हैं. इधर, बुधवार को अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल ने जैसलमेर जिले की उप निवेशन तहसील रामगढ़ प्रथम और द्वितीय, जैसलमेर क्षेत्र के गांवों का भ्रमण कर टिड्डी दल हमले से हुए फसल खराबे का मुरब्बों पर जाकर जायजा लिया है. वहां के काश्तकारों से रूबरू होकर उनसे फसल के हुए नुकसान के बारे में जानकारी ली है.

ईसबगोल व जीरे की फसलों का बहुतायत मात्रा में खराबा
केन्द्रीय कृषि मंत्रालय के संयुक्त सचिव आतिश चन्द्रा के नेतृत्व में आए दल में दयानंद सांवत सहायक आयुक्त(डीएएमडी और एफ), सहायक सलाहकार जलदाय व स्वच्छता संतोष आर, संयुक्त सलाहकार नीति आयोग मानस चौधरी शामिल थे. केन्द्रीय दल ने उप निवेशन रामगढ़ के कोलूतला ग्राम पंचायत में मुरब्बों में टिड्डी दल से हुए फसल नुकसान की स्थिति का जायजा लिया. दल को यहां के काश्तकार खेरदीन, रामनिवास इत्यादि ने बताया कि उनके ईसबगोल व जीरे की फसलों का बहुतायत मात्रा में खराबा हो गया है वहीं चने की फसल भी खराब हुई है. इसके साथ ही दल ने 7 डीएमएम के भी मुरब्बों में फसल को देखा जहां खराबा हुआ था. यहां पर काश्तकार प्रहलाद शर्मा, रतीराम, दलवीर गोदारा, हनुमान चौधरी ने भी बताया कि उनकी फसलें नष्ट हो गई है.

ये भी  पढ़ें- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बजट में कर सकते हैं ये 33 घोषणाएं



अभी प्रति हैक्टेयर के हिसाब से 13 हजार 500 रुपए मुआवजा
केन्द्रीय दल ने यहां पर किसानों के साथ चर्चा की एवं उनसे फसल खराबे की विस्तार से जानकारी ली. यहां पर समाजसेवी गोविन्द भार्गव के साथ ही खेरदीन, प्रहलाद, रणवीर गोदारा ने बताया कि उन्हें फसल खराबे के अनुदान के रूप में 2 हैक्टेयर के लिए 27 हजार रुपये मिलें है जो प्रति हैक्टेयर के हिसाब से 13 हजार 500 है. उन्होंने केन्द्रीय दल से मांग की कि इस मुआवजे से बीज के पैसे भी किसानों के नहीं आए हैं इसलिए उन्हें केन्द्र सरकार के माध्यम से अधिक मुआवजा दिलाने की कार्यवाही करावें. संयुक्त सचिव आतिश चन्द्रा ने किसानों को विश्वास दिलाया कि वे फसल खराबे के संबंध में विस्तार से केन्द्र सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे. भ्रमण के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, उपायुक्त उप निवेशन देवाराम सुथार, तहसीलदार जैसलमेर ताराचंद वैंकट, उप निदेशक कृषि विस्तार राधेश्याम नारवाल, टिड्डी नियंत्रण अधिकारी डॉ.राजेश कुमार के साथ ही उप निवेशन तहसीलदार भी साथ में मौजूद थे.

ये भी पढ़ें- 

ऐसा हुआ तो दिल्ली की जगह जयपुर लैंड कर सकते हैं US प्रेसीडेंट ट्रंप...

राजस्थान में गहलोत सरकार ने अफसरों पर कसी लगाम, लगा दी ये पाबंदियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2020, 7:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर