Home /News /rajasthan /

राजस्थानी मतदाताओं पर बड़ी पार्टियों की नजर

राजस्थानी मतदाताओं पर बड़ी पार्टियों की नजर

दिल्ली विधान सभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है। दिल्ली में रह रहे लाखों राजस्थानी मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए, दोनों बड़ी पार्टियों ने राजस्थान के नेताओं को दिल्ली के चुनावी दंगल में उतार दिया है। एक ओर बीजेपी ने सीएम पद की उम्मीदवार किरण बेदी के चुनाव क्षेत्र की जिम्मेंदारी राजस्थान कोटा के सांसद ओम बिरला को सौंपी है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने अजय माकन के चुनावी क्षेत्र की जिम्मेंदारी अपने सबसे भरोषेमन्द और अनुभवी राज्य के पूर्व सीएम अशोक गहलोत को दी है।

दिल्ली विधान सभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है। दिल्ली में रह रहे लाखों राजस्थानी मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए, दोनों बड़ी पार्टियों ने राजस्थान के नेताओं को दिल्ली के चुनावी दंगल में उतार दिया है। एक ओर बीजेपी ने सीएम पद की उम्मीदवार किरण बेदी के चुनाव क्षेत्र की जिम्मेंदारी राजस्थान कोटा के सांसद ओम बिरला को सौंपी है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने अजय माकन के चुनावी क्षेत्र की जिम्मेंदारी अपने सबसे भरोषेमन्द और अनुभवी राज्य के पूर्व सीएम अशोक गहलोत को दी है।

दिल्ली विधान सभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है। दिल्ली में रह रहे लाखों राजस्थानी मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए, दोनों बड़ी पार्टियों ने राजस्थान के नेताओं को दिल्ली के चुनावी दंगल में उतार दिया है। एक ओर बीजेपी ने सीएम पद की उम्मीदवार किरण बेदी के चुनाव क्षेत्र की जिम्मेंदारी राजस्थान कोटा के सांसद ओम बिरला को सौंपी है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने अजय माकन के चुनावी क्षेत्र की जिम्मेंदारी अपने सबसे भरोषेमन्द और अनुभवी राज्य के पूर्व सीएम अशोक गहलोत को दी है।

अधिक पढ़ें ...
    दिल्ली विधान सभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है। दिल्ली में रह रहे लाखों राजस्थानी मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए, दोनों बड़ी पार्टियों ने राजस्थान के नेताओं को दिल्ली के चुनावी दंगल में उतार दिया है। एक ओर बीजेपी ने सीएम पद की उम्मीदवार किरण बेदी के चुनाव क्षेत्र की जिम्मेंदारी राजस्थान कोटा के सांसद ओम बिरला को सौंपी है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने अजय माकन के चुनावी क्षेत्र की जिम्मेंदारी अपने सबसे भरोषेमन्द और अनुभवी राज्य के पूर्व सीएम अशोक गहलोत को दी है।

    ये अलग बात है की जबसे अशोक गलत को जीम्मेंदारी मिली है, वो बीमार चल रहे हैं लेकिन उनकी टीम ने चांदनी चौक और आदर्श नगर विधान सभा क्षेत्र की कमान अपने हाथ में संभाल ली है। उधर किरण बेदी को भीतरघात से बचाने के लिए ओम बिरला ने कृष्णा नगर क्षेत्र में ही डेरा दिया है। यही नहीं बीजेपी ने राजस्थान के पूर्व मंत्री दिगंबर सिंह, समेत राज्य से केंद्र मे मंत्री निहाल चंद मेघवाल, महासचिव भूपेंद्र यादव, एमपी महंत नाथ चंद, राज्य से विधायक गुरजंत सिंह, बीएस रजावत, अलका गुज्जर को भी प्रचार के लिए उतारा है।

    रविवार को नेताओं ने कई विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के लिए वोट मांगे। दूसरी ओर कांग्रेस ने भी राज्य के पूर्व एमपी और पूर्व केंद्रीय मंत्री लाल चंद कटारिया को नजफगढ़ चुनावी क्षेत्र की कमान सौंपी है। कटारिया पिछले एक महीने से पार्टी के प्रचार के लिए दिल्ली में ही डेरा डाले हुए है। उनके अलावा भंवर जीतेन्द्र सिंह, धर्मेद्र राठौर, हरीश चौधरी, जुगल काबरा समेत और दूसरे नेता भी मैदान में टिके हैं। चुनावी नतीजा कुछ भी निकले लेकिन पार्टियां कोई भी कसर नही छोड़ रही हैं।

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर