लाइव टीवी

राजस्थान की बेटी सुहासिनी की हौंसलों की उड़ान, सफलतापूर्वक पूरा किया 'गंगा आमंत्रण अभियान'

News18 Rajasthan
Updated: November 16, 2019, 6:25 PM IST
राजस्थान की बेटी सुहासिनी की हौंसलों की उड़ान, सफलतापूर्वक पूरा किया 'गंगा आमंत्रण अभियान'
जलशक्ति मंत्रालय के 31 दिन के इस अभियान का शुभारंभ गत 10 अक्टूबर को किया गया था. जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने ही इस अभियान की शुरुआत करवाई थी.

राजस्थान की एक और बेटी (Daughter of rajasthan) ने अपने हौंसलों की उड़ान से बड़ा अभियान (campaign) पूरा किया है. जलशक्ति मंत्रालय (Ministry of Jal Shakti) के पहले 'गंगा आमंत्रण अभियान' में शामिल रही यह बेटी कोई और नहीं, बल्कि जलशक्ति मंत्रालय के मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत (Minister Gajendra Singh Shekhawat) की बेटी सुहासिनी शेखावत (Suhasini Shekhawat) है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की एक और बेटी (Daughter of rajasthan) ने अपने हौंसलों की उड़ान से बड़ा अभियान (campaign) पूरा किया है. जलशक्ति मंत्रालय (Ministry of Jal Shakti) के पहले 'गंगा आमंत्रण अभियान' में शामिल रही यह बेटी कोई और नहीं, बल्कि जलशक्ति मंत्रालय के मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत (Minister Gajendra Singh Shekhawat) की बेटी सुहासिनी शेखावत (Suhasini Shekhawat) है. सुहासिनी इस अभियान में शामिल भी थी इसकी जानकारी बेहद कम लोगों को है. हाल में जब इस अभियान का पश्चिम बंगाल (West Bengal) में समापन हुआ तब लोगों को इसकी जानकारी मिल पाई.

उत्तराखंड से बंगाल तक 31 दिन चला अभियान
जलशक्ति मंत्रालय के 31 दिन के इस अभियान का शुभारंभ गत 10 अक्टूबर को किया गया था. जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने ही इस अभियान की शुरुआत करवाई थी. उत्तराखंड के देवप्रयाग से अभियान शुरू किया गया था. नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत के तहत हुए इस अभियान का उद्देश्य स्वच्छ गंगा मिशन से देशभर के लोगों को जोड़ने और जागरूकता फैलाना था.

2500 किलोमीटर लंबी दूरी पूरी की गई

राफ्टिंग के जरिए पूरे किए गए इस अभियान में 2500 किलोमीटर लंबी दूरी पूरी की गई. यह अभियान देवप्रयाग से शुरू होकर ऋषिकेश, उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार होते हुए पश्चिम बंगाल तक चला. अभियान का समापन 12 नवंबर को पश्चिम बंगाल में हुआ.

स्पोर्ट्स में काफी रूचि रखती हैं सुहासिनी
इस अभियान का अहम हिस्सा रही सुहासिनी शेखावत पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएट है. सुहासिनी ने ऑक्सफोर्ड से एडवांस लीडरशिप में डिप्लोमा पूरा किया है. सुहासिनी स्पोर्ट्स में काफी रूचि रखती हैं. वे निशानेबाजी का भी शौक रखती हैं और एक बेहतरीन शूटर भी हैं. लेकिन इस पूरे अभियान के दौरान बेहद कम लोगों को इस बात का पता चल पाया कि सुहासिनी कौन हैं. केवल गिने-चुने अधिकारियों को ही उनकी पृष्ठभूमि के बारे में पता था.
Loading...

विंग कमांडर परमवीर सिंह ने किया अभियान को लीड
जागरुकता फैलाने वाले इस अहम अभियान का नेतृत्व भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर परमवीर सिंह ने किया था. उनके साथ भारतीय सेना, नौसेना और एयरफोर्स के अधिकारियों समेत एनडीआरएफ और सीएसआईआर के सदस्य भी शामिल रहे.

प्रदेश में जल्द अस्तित्व में आएंगी 48 नई पंचायत समितियां और 1264 पंचायतें !

पूर्व PM इंदिरा गांधी के नाम पर अशोक गहलोत सरकार लाएगी 8 बड़ी योजनाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 6:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...