Rajya Sabha Elections: कांग्रेस की टेंशन हुई कम, विधायकों के कैंप में पहुंचे खाद्य मंत्री रमेश मीणा

रमेश मीणा कुछ मुद्दों को लेकर नाराज थे.
रमेश मीणा कुछ मुद्दों को लेकर नाराज थे.

राजस्‍थान के खाद्य मंत्री रमेश मीणा (Food Minister Ramesh Meena) ने कहा कि मेरी कुछ समस्याएं और मांगें थीं जिन्हें आलाकमान तक पहुंचा दिया है. मुझे दिल्ली और जयपुर दोनों जगह से आश्वासन मिला है. जबकि मीणा JW मैरियट में दिल्‍ली पीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष देवेंद्र यादव (Devendra Yadav) के साथ पहुंचे हैं.

  • Share this:
जयपुर. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की समझाइश के बाद खाद्य मंत्री रमेश मीणा  (Food Minister Ramesh Meena) की आखिरकार नाराजगी दूर हो गई है. वह आज पहली बार कांग्रेस निर्दलीय विधायकों के कैंप में जेडब्‍ल्‍यू मैरियट रिसोर्ट पहुंचे. दिल्ली पीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष और राजस्थान के पूर्व सह प्रभारी सचिव देवेंद्र यादव (Devendra Yadav) उनको रिसोर्ट लेकर पहुंचे. आपको बता दें कि राज्‍यसभा चुनाव को लेकर 10 जून से रिसोर्ट में जारी कांग्रेस (Congress) और निर्दलीय विधायकों के कैंप से रमेश मीणा ने दूरी बना रखी थी, लेकिन वह 7वें दिन कैंप में पहुंच गए हैं. यकीनन यह कांग्रेस के लिए राहत की बात है.

रमेश मीणा ने कही ये बात
राजस्‍थान के खाद्य मंत्री रमेश मीणा ने जेडब्‍ल्‍यू मैरियट रिसोर्ट पहुंचने के बाद मीडिया से बातचीत में कहा, 'मेरी जनता से जुड़ी कुछ समस्याएं और मांगें थीं, वह बातें मैंने सबके सामने रख दी हैं. मेरी बात दिल्ली तक पहुंचा दी गई है, जब कोई निर्णय आएगा तो आपको बता देंगे. आलाकमान या प्रदेश स्तर पर आश्वासन मिलने के सवाल पर रमेश मीणा ने कहा कि दोनों जगह से अभी मुझे आश्वासन मिला है. जबकि विधायकों को प्रलोभन देने के सवाल पर रमेश मीणा ने कहा कि किसी विधायक को प्रलोभन देने की कोई जानकारी नहीं है. वहीं, नाराजगी के मुद्दों के बारे में पूछे जाने पर कहा कि अभी मुद्दों पर चर्चा नहीं करूंगा, चर्चा तब करूंगा जब उसका रिजल्ट आएगा.

रमेश मीणा को मनाने में देवेंद्र यादव बने सूत्रधार
मंत्री रमेश मीणा कुछ मुद्दों को लेकर नाराज थे जिसकी वजह से उन्होंने कैंप से दूरी बना रखी थी. रमेश मीणा से प्रभारी अविनाश पांडे, पर्यवेक्षक रणदीप सिंह सुरजेवाला, टीएस सिंह देव और दिल्ली पीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष देवेंद्र यादव ने लगातार बात की. यही नहीं, उन्‍हें सभी वरिष्ठ नेताओं ने कैंप जॉइन करने की सलाह दी और समझाया कि इससे गलत मैसेज जा रहा है. आखिर में देवेंद्र यादव को रमेश मीणा को कैंप में लेकर आने का जिम्मा सौंपा गया.आपको बता दें कि यादव सह प्रभारी सचिव रहते हुए पूर्वी राजस्थान के जिलों के प्रभारी थे और इस दौरान दोनों (देवेंद्र यादव और मीणा) के बीच अच्‍छे रिश्‍ते बन गए थे. इसी वजह से यादव को इस मीणा को कैंप में लाने का टास्क दिया गया था.



ये भी पढ़ें

Rajasthan: प्रदेश में कभी भी घोषित हो सकते हैं 3878 ग्राम पंचायतों के चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज