Rajasthan Crisis: 'संकटमोचक' बनकर दिल्ली से ये 3 नेता पहुंचे जयपुर, सुरजेवाला बोले- BJP को खुश होने की जरूरत नहीं
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: 'संकटमोचक' बनकर दिल्ली से ये 3 नेता पहुंचे जयपुर, सुरजेवाला बोले- BJP को खुश होने की जरूरत नहीं
दिल्ली से जयपुर पहुंचे कांग्रेस नेता अविनाश पांडे, रणदीप सिंह सुरजेवाला और अजय माकन ने सीएम अशोक गहलोत के साथ बैठक की है. (फाइल फोटो)

राजस्थान कांग्रेस के महासचिव अविनाश पांडे, रणदीप सिंह सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) और अजय माकन (Ajay Maken) संकटमोचक बनकर जयपुर पहुंचे हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में सरकार (Gehlot Government) पर मंडरा रहे संकट को टालने के लिए दिल्ली ने तीन कांग्रेसी नेता जयपुर पहुंच चुके हैं. राजस्थान कांग्रेस के महासचिव अविनाश पांडे, रणदीप सिंह सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) और अजय माकन (Ajay Maken) संकटमोचक बनकर जयपुर पहुंचे हैं. तीनों नेताओं ने सीएम आवास पर अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के साथ पूरी स्थिति पर मंत्रणा की. बैठक में उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बगावती तेवर और उनको मनाने को लेकर विचार-विमर्श किया गया है.

बैठक के बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा को बिना किसी कारण के खुश होने की जरूरत नहीं है. कांग्रेस सरकार राज्य में पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी.

उधर, जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट की नाराजगी अभी भी बरकरार है. और वो सोमवार सुबह 10.30 बजे होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे. पायलट के नजदीकियों का दावा है कि पार्टी के 30 विधायकों के उनके समर्थन में आने से गहलोत सरकार अल्पमत में आ गई है.



थोड़ी देर पहले अशोक गहलोत ने सीएम निवास पर कांग्रेस विधायकों के साथ अनौपचारिक बैठक की. इसके बाद विधायक अपने-अपने घर के लिए निकल गए हैं. विधायकों के बाद सीएम ने मंत्रियों के साथ अलग से बैठक की. जानकारी के मुताबिक इन दोनों बैठक में 75 मंत्री और विधायकों ने हिस्सा लिया. कल यानी सोमवार सुबह 10.30 बजे पार्टी विधायक दल की औपचारिक बैठक होगी. जिसके बाद पार्टी की ओर व्हीप जारी की जा सकती है.
सचिन पायलट के बगावती तेवर को देखते हुए कांग्रेस अपने विधायकों की बाड़ेबंदी कर सकती है. यह काम आज रात या फिर कल सुबह हो सकता है. जानकारी ये भी है कि सोमवार को सीएम गहलोत अपनी ताकत दिखाने के लिए समर्थक विधायकों का राजभवन में परेड करा सकते हैं.

बता दें कि एक बार फिर डिप्टी सीएम सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत में सियासी खींचतान जारी है. दोनों दिग्गजों के बीच तकरार की वजह पुलिस द्वारा विधायकों की 'खरीद-फरोख्त' मामले की जांच का आदेश देना और इस सिलसिले में सचिन पायलट को नोटिस भेजना बताया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading