• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • JAIPUR RAS OFFICER MOHAN SINGH COMMITED SUICIDE BUREAUCRACY SHOCKED RJSR

Rajasthan News: RAS अधिकारी मोहन सिंह ने की आत्महत्या, ट्रेन के आगे लगाई छलांग, सुसाइड नोट भी बरामद

राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी मोहन सिंह जयपुर में ही महिला एवं बाल विकास विभाग में पदस्थापित थे. (सांकेतिक तस्वीर)

RAS officer Mohan Singh commited suicide राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी मोहन सिंह ने जयपुर में ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान की राजधानी जयपुर में सोमवार को एक सनसनीखेज घटनक्रम में राजस्थान प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी (RAS officer) ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. घटना की जानकारी मिलने पर प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया. पुलिस ने शव को स्थानीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है. पुलिस को शव के पास से सुसाइड नोट भी मिला है, लेकिन उसका अभी तक खुलासा नहीं किया गया है.

जानकारी के अनुसार, आत्महत्या करने वाले अधिकारी मोहन सिंह ने सोमवार सुबह आत्महत्या कर ली. उन्होंने सुबह करधनी थाना इलाके में ट्रेन के आगे छलांग लगा दी, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई. ट्रेन के आगे आकर आत्महत्या करने की सूचना पर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची. बाद में मृतक की शिनाख्त आरएएस अधिकारी मोहन सिंह के रूप में हुई.

महिला एवं बाल विकास विभाग में थे तैनात
राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी मोहन सिंह जयपुर में ही महिला एवं बाल विकास विभाग में पदस्थापित थे. पुलिस को उनके पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. इस सुसाइड नोट में क्या लिखा है, इसका अभी तक पुलिस ने खुलासा नहीं किया है. इसके कारण अभी तक आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है. पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है. मोहन सिंह के परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई है. सिंह द्वारा आत्महत्या किये जाने की सूचना से प्रशासनिक मशीनरी सकते है.

पुलिस महकमे में भी बढ़ रही है ऐसी घटनाएं
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में पिछले कुछ समय से पुलिस महकमे में आत्महत्या की घटनाएं ज्यादा सामने आ रही थीं. गत वर्ष चूरू जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने अपने सरकारी आवास पर आत्महत्या कर ली थी. बाद में यह मामला काफी तूल पकड़ गया था. इस मामले की सीबीआई जांच चल रही है. उसके बाद सीएम गहलोत ने इस तरह घटनाओं पर चिंता जताई थी. अब राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी की आत्महत्या की घटना ने ब्यूरोक्रेसी को झकझोर कर रख दिया है.