Home /News /rajasthan /

शिक्षा मंत्री की घोषणा, राजस्थान बोर्ड स्कूलों में अगले साल से बदल जाएंगी किताबें, लागू होगा NCERT पाठ्यक्रम

शिक्षा मंत्री की घोषणा, राजस्थान बोर्ड स्कूलों में अगले साल से बदल जाएंगी किताबें, लागू होगा NCERT पाठ्यक्रम

सरकारी स्कूलों के पाठयक्रम को लेकर बड़ी घोषणा हुई है. प्रदेश में अगले शैक्षणिक सत्र से एनसीईआरटी पाठयक्रम लागू होगा.

सरकारी स्कूलों के पाठयक्रम को लेकर बड़ी घोषणा हुई है. प्रदेश में अगले शैक्षणिक सत्र से एनसीईआरटी पाठयक्रम लागू होगा.

राजस्थान बोर्ड (RBSE | BSER) के स्कूल पाठयक्रम (School Syllabus) को लेकर अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने बड़ी घोषणा की है. प्रदेश में अगले शैक्षणिक सत्र (2019-20 Session) से एनसीईआरटी पाठयक्रम (NCERT Syllabus) लागू होगा.

जयपुर. राजस्थान बोर्ड (RBSE | BSER) के स्कूल पाठयक्रम को लेकर बीजेपी-कांग्रेस में जारी रोजाना की जंग के बीच बुधवार को राजस्थान की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने स्कूलों के पाठयक्रम (School Syllabus) को लेकर बड़ी घोषणा की है. प्रदेश में अगले शैक्षणिक सत्र (2019-20 Session) से एनसीईआरटी पाठयक्रम (NCERT Syllabus) लागू होगा. कक्षा छह से लेकर बारहवीं तक के बच्चे एनसीईआरटी का सैलेबस पढ़ेंगे. इस संबंध में शिक्षा मंत्री मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) ने कहा है कि कक्षा छह से बारहवीं तक के बच्चे अगले सत्र से एनसीईआरटी की किताबें पढ़ेंगे. सरकार ने दावा किया है कि शिक्षाविदों की कमेटी की सिफारिश के बाद सरकार ने ये कदम उठाया है.

आरएसएस विचारधारा थौंपी जा रही थी- शिक्षा मंत्री

सरकार ने इसके अलावा उन विषयों को भी पाठयक्रम से हटा दिया, जिनके नंबर परीक्षा परिणाम में नहीं जुड़ते हैं. मंत्री गोविंद डोटासरा की दलील थी कि इनके जरिए आरएसएस की विचारधारा बच्चों पर थौंपी जा रही थी. और इससे कोई उद्देश्य पूरा नहीं हो पा रहा था.

राजस्थानी संस्कृति, इतिहास के पाठ नए सिरे से जोड़ेंगे

सरकार के फैसले पर सवाल न उठें, इसलिए गहलोत सरकार ने कक्षा नौ से लेकर बारह तक आजादी के आंदोलन और राजस्थान की संस्कृति और प्रदेश के स्वर्णिम इतिहास के पाठ नए सिरे से जोड़ने का ऐलान किया है. बहरहाल, गहलोत सरकार ने एनसीईआरटी पाठयक्रम लागू कर शिक्षा में आरएसएस और विद्याभारती की दखल को खत्म करने का ऐलान किया है और अब देखना है नया पाठयक्रम प्रदेश के बच्चों को कितना रास आता है.

ये भी पढ़ें- महिला ने दानपेटी में डाले सवा करोड़ रुपए कैश, VIDEO हुआ वायरल

 

Tags: Ashok gehlot, Jaipur news, Rajasthan Board of Secondary Education, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर