Rajasthan: विधानसभा में एक दिन में पारित हुये रिकॉर्ड 13 बिल, ज्यादातर को बिना चर्चा के दी गई मंजूरी
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: विधानसभा में एक दिन में पारित हुये रिकॉर्ड 13 बिल, ज्यादातर को बिना चर्चा के दी गई मंजूरी
सोमवार को विधानसभा में भारी हंगामे के कारण सदन की कार्रवाई को 4 बार स्थगित करना पड़ा.

राजस्थान विधानसभा (Assembly) में सोमवार को भारी हंगामे और विपक्ष के सदन से वॉकआउट के बीच रिकॉर्ड 13 बिल पास (Bill passed) किये गये. इनमें से अधिकतर बिना चर्चा के पास कर दिये गये.

  • Share this:
जयपुर. विधानसभा (Assembly) में सोमवार को एक ही दिन में रिकॉर्ड 13 विधेयक (Bill passed) ध्वनि मत से पारित किए गए. भारी हंगामे के बीच कुछ बिलों को जहां चर्चा के बाद पारित किया गया वहीं ज्यादातर बिल बिना चर्चा (Without discussion) के पारित किए गये. विधानसभा की कार्यसूची में पहले 8 विधेयक ही शामिल थे. लेकिन कार्य सलाहकार समिति की बैठक में 5 और विधेयकों को सदन की कार्यवाही में शामिल किया गया.

बीजेपी विधायक इन बिलों के विरोध में हंगामा करते हुए सदन से वॉकआउट कर गए और ज्यादातर बिल बिना चर्चा के पारित कर दिये गये. हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही को चार बार स्थगित करना पड़ा था. कुछ विधेयकों पर सत्ता पक्ष के सदस्यों ने भी आपत्ति और आशंकाएं जाहिर करते हुए इन्हें जनमत जानने के लिए प्रचारित करने की मांग की लेकिन सदन ने इसे खारिज कर दिया. वहीं कुछ विधायकों ने इन विधेयकों में संशोधन लगाया था जिन्हें बाद में उन्होंने वापस ले लिया और ध्वनिमत से विधेयक पारित कर दिए गये.

Rajasthan: घनश्याम तिवारी और मानवेन्द्र की BJP में वापसी की सुगबुगाहट तेज! तैयार किया जा रहा है रोडमैप



ये जताई गई आपत्तियां
खास तौर से राजस्थान कृषि जोतों पर अधिकतम सीमा अधिरोपण (संशोधन) विधेयक, 2020, राजस्थान भिखारियों या निर्धन व्यक्तियों का पुनर्वास (संशोधन) विधेयक, 2020 और राजस्थान उद्यम एकल खिड़की सामर्थ्यकारी और अनुज्ञापन (संशोधन) विधेयक, 2020 पर आपत्तियां जाहिर की गई थी. कृषि जोतों पर अधिकतम सीमा अधिरोपण (संशोधन) विधेयक, 2020 पर बोलते हुए कांग्रेस विधायक हेमाराम चौधरी ने कहा कि बिल पास हो गया तो किसानों की जमीनें छिन जाएंगी और किसान हमेशा हमें लानत देंगे. उन्होंने बिल को जल्दबाजी में पारित करने की बजाय उसे जनमत जानने के लिए भेजे जाने की मांग की. वहीं राजस्थान माल और सेवा कर संशोधन विधेयकों पर पक्ष-विपक्ष में तीखी नोंक-झोंक हुई. सम्बन्धित विभागों के मंत्रियों ने हालांकि आपत्तियों और आशंकाओं को लेकर सदन को आश्वस्त किया.

ये 8 बिल थे कार्यसूची में शामिल
- राजस्थान माल और सेवा कर (द्वितीय संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान माल और सेवा कर (तृतीय संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान विधानसभा (अधिकारियों तथा सदस्यों की परिलब्धियां और पेंशन) (संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान विशेष न्यायालय (निरसन) विधेयक, 2020
- राजस्थान भिखारियों या निर्धन व्यक्तियों का पुनर्वास (संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान स्टाम्प (संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान आबकारी (संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान कृषि उपज मण्डी (द्वितीय संशोधन) विधेयक, 2020

जयपुर: प्रेमी के घर पर मिली 3 दिन से लापता पूर्व प्रधान, कहा- पति से तलाक होने तक लिव-इन में रहूंगी

BAC की बैठक में जोड़े ये 5 विधेयक
- राजस्थान मदरसा बोर्ड विधेयक, 2020
- राजस्थान महामारी विधेयक, 2020
- राजस्थान पुलिस (संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान उद्यम एकल खिड़की सामर्थ्यकारी और अनुज्ञापन (संशोधन) विधेयक, 2020
- राजस्थान कृषि जोतों पर अधिकतम सीमा अधिरोपण (संशोधन) विधेयक, 2020

(रिपोर्ट- दिनेश शर्मा, गोवर्धन चौधरी, सुधीर शर्मा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज