लाइव टीवी

रिकॉर्ड तोड़ बारिश: राजस्थान में 1 करोड़ हैक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में होगी रबी की बुवाई

Dinesh Sharma | News18 Rajasthan
Updated: September 29, 2019, 5:34 PM IST
रिकॉर्ड तोड़ बारिश: राजस्थान में 1 करोड़ हैक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में होगी रबी की बुवाई
कृषि विभाग के आंकलन के मुताबिक रबी सीजन में 1 करोड़ 5 लाख हैक्टेयर में बुवाई की उम्मीद है.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

राजस्थान (Rajasthan) में हुई अच्छी बारिश (Good rain) इस बार रबी सीजन के लिए अच्छे संकेत (Good signs) लेकर आई है. इस बार कृषि विभाग (Agriculture Department) ने रबी की बुवाई (Rabi Sowing) का रकबा बढ़ने का आंकलन किया है. इस बार यह आंकड़ा एक करोड़ हैक्टेयर (1 Crore hectares) के पार जाएगा.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में हुई अच्छी बारिश (Good rain)  इस बार रबी सीजन के लिए अच्छे संकेत (Good signs)  लेकर आई है. इस बार कृषि विभाग (Agriculture Department) ने रबी की बुवाई (Rabi Sowing)  का रकबा बढ़ने का आंकलन किया है. आम तौर पर रबी सीजन में औसतन 90 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में बुवाई होती है, लेकिन इस बार यह आंकड़ा एक करोड़ हैक्टेयर (1 Crore hectares) के पार जाएगा. 1 अक्टूबर (October) से रबी की बुवाई का सीजन शुरू हो जाएगा.

1 करोड़ 5 लाख हैक्टेयर में बुवाई की उम्मीद
कृषि विभाग के आंकलन के मुताबिक रबी सीजन में 1 करोड़ 5 लाख हैक्टेयर में बुवाई की उम्मीद है. इस बढ़े हुए रकबे को देखते हुए संबंधित विभागों ने अभी से खाद-बीज के इंतजाम शुरू कर दिए हैं. किसानों को परेशानी से बचाने के लिए 3 लाख मीट्रिक टन खाद का अग्रिम भंडारण किया जाएगा. मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के मुताबिक 2 लाख मीट्रिक टन यूरिया और एक लाख मीट्रिक टन डीएपी का भंडारण होगा.

15 लाख मीट्रिक टन यूरिया की जरुरत होगी

बुवाई के आंकलन के अनुसार किसानों को रबी सीजन में करीब 15 लाख मीट्रिक टन यूरिया की जरुरत होगी. जबकि अभी राज्य के पास करीब 4 लाख 25 हजार मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है. परिस्थितियों को देखते हुए खाद आपूर्ति करने वाली इफको और कृभको जैसी कंपनियों से तालमेल बिठाकर अधिकारियों को व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं. इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई है.

राजस्थान में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है
उल्लेखनीय है कि इस बार राजस्थान में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है. हालांकि कई जगह ज्यादा बारिश से खरीफ फसलों का नुकसान भी पहुंचा है, लेकिन जगह संतुलित बारिश भी हुई है. कोटा संभाग में हुई बेशुमार बारिश से वहां फसलों को ज्यादा नुकसान हुआ है. कोटा शहर में तो इस बार गत 48 साल का रिकॉर्ड टूटा है. बारिश के कारण जमीन में अच्छी नमी है.
Loading...

विदा होते मानसून ने जमकर भिगोया, जयपुर, उदयपुर और बीकानेर में बारिश

कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुआ जैसलमेर का जाबांज राजेन्द्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 5:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...