Home /News /rajasthan /

REET-2021 Paper Leak: RSEB सचिव अरविंद कुमार सिंह सेंगवा भी सस्पेंड, नकल रोकने बिल लाएगी सरकार

REET-2021 Paper Leak: RSEB सचिव अरविंद कुमार सिंह सेंगवा भी सस्पेंड, नकल रोकने बिल लाएगी सरकार

REET Paper Leak Case Latest News: राजस्थान सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए RSEB सचिव अरविंद कुमार सिंह सेंगवा को भी सस्पेंड कर दिया है.

REET Paper Leak Case Latest News: राजस्थान सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए RSEB सचिव अरविंद कुमार सिंह सेंगवा को भी सस्पेंड कर दिया है.

Rajasthan REET Paper Leak Latest News: रीट पेपर लीक (REET 2021 Paper Leak Case) केस को लेकर राजस्थान में लगातार घमासान जारी है. गहलोत सरकार ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली के बाद अब सचिव अरविंद कुमार सिंह सेंगवा को भी सस्पेंड (RSEB Secretary Arvind Kumar Singh Sengwa Suspend) कर दिया गया है. इसके साथ ही बजट सत्र में राज्य सरकार एक बिल लेकर आएगी जिसमें नकल और पेपर लीक जैसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़े प्रावधान होंगे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं होगी. माना जा रहा है कि फिलहाल मामले की जांच सीबीआई को नहीं सौंपी जाएगी. एसओजी इस मामले में जल्द ही कुछ बड़े लोगों की गिरफ्तारियां भी कर सकती है.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. रीट पेपर लीक (REET Paper Leak Case) मामले को लेकर राजस्थान में घमासान जारी है. विपक्ष लगातार इस मामले को लेकर हल्ला बोल रहा है. इस बीच कड़ा संदेश देते हुए राज्य सरकार ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली को बर्खास्त कर दिया है. कर्तव्यों की पालना में असफल रहने का हवाला देते हुए बोर्ड अध्यक्ष की बर्खास्तगी की गई है. जबकि बोर्ड सचिव अरविंद कुमार सिंह सेंगवा (Ravind Kumar Singh Sengwa Suspend) को भी सस्पेंड कर दिया गया है. उधर, भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए राज्य सरकार कड़े कानूनी प्रावधान करने जा रही है. बजट सत्र में राज्य सरकार इस संबंध में बिल लेकर आएगी जिसमें नकल और पेपर लीक जैसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़े प्रावधान होंगे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. मामले में राज्य सरकार द्वारा की गई कार्रवाई के बाद दिन भर सत्ता पक्ष और विपक्ष में वार- पलटवार का सिलसिला चला.

मामले में पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि सरकार और एसओजी सही दिशा में काम कर रहे हैं. जांच में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएग. गौरतलब है कि रीट परीक्षा के आयोजन के समय गोविंद सिंह डोटासरा प्रदेश के शिक्षा मंत्री थे. डोटासरा ने कहा कि यह विषय हजारों-लाखों युवाओं के भविष्य से जुड़ा हुआ है. इस पर भाजपा या किसी भी व्यक्ति को कोई राजनीति नहीं करनी चाहिए, बल्कि इससे जुड़ा कोई भी इनपुट अगर किसी व्यक्ति को मिलता है तो वह सरकार और एसओजी तक पहुंचाए.

एसओजी को दिया फ्री हैंड

बर्खास्तगी की खबर मिलने के बाद बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जीपी जारोली मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए अजमेर से जयपुर के लिए निकले, लेकिन मुख्यमंत्री से नहीं मिल पाए. उधर मुख्यमंत्री गहलोत ने ट्वीट कर जहां इस प्रकरण में राजनीति कर रहे लोगों को करारा जवाब दिया. वहीं यह भी भरोसा दिलाया कि किसी भी अभ्यर्थी के साथ अन्याय नहीं होगा. मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा कि रीट परीक्षा के विषय में जब से सूचना मिली तब से SOG ने पूरी गंभीरता से जांच की है. राज्य सरकार ने SOG को जांच के लिए फ्री हैंड दिया है. परीक्षा का आयोजन करने वाले बोर्ड की जिम्मेदारी तय करते हुए चेयरमैन को बर्खास्त और सचिव को निलंबित किया गया है. राज्य सरकार परीक्षा में गड़बड़ी, कोताही एवं कर्तव्य में लापरवाही करने वाले हर व्यक्ति पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेगी. परीक्षा में शामिल किसी भी अभ्यर्थी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: पति चबा गया पत्नी के गाल, कंधे-हाथ की कलाई पर काटा, 2 महीने पहले हुई थी शादी 

सेंकी जा रहीं राजनीतिक रोटियां !

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह भी कहा कि यह दुख की बात है कि कुछ लोग राजनीतिक रोटियां सेकने के लिए ऐसा माहौल बना रहे हैं जिससे कोई आगामी भर्ती परीक्षा ना हो सके. यह लोग लाखों अभ्यर्थियों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं. मामले में बड़ी और कड़ी कार्रवाई कर सीएम गहलोत ने स्पष्ट कर दिया है कि इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं होगी. अब माना जा रहा है कि एसओजी इस मामले में जल्द ही कुछ बड़े लोगों की गिरफ्तारियां कर सकती है, जिनमें बोर्ड के बर्खास्त अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली का नाम भी शामिल हो सकता है. मुख्यमंत्री और राज्य सरकार के मंत्रियों द्वारा एसओजी की पीठ थपथपाने से यह माना जा रहा है कि फिलहाल मामले की जांच सीबीआई को नहीं सौंपी जाएगी. मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि भाजपा नेताओं में तो इस मुद्दे पर एक राय ही नहीं है. नेता प्रतिपक्ष कटारिया एसओजी से ही मामले की जांच चाहते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार प्रकरण में कड़े निर्णय ले रही है और दोषी बख्शे नहीं जाएंगे.

Tags: Jaipur news, Rajasthan news, REET exam

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर