लाइव टीवी

जयपुर के रेजीडेंट डॉक्टर हड़ताल पर, सरकारी अस्पतालों में बिगड़े हालात

Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: October 30, 2019, 12:06 PM IST

दो रेजिडेंट डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट (two resident doctors were beaten) के बाद हड़ताल की घोषणा की गई है. जयपुर (Jaipur) के एसएमएस मेडिकल कॉलेज (SMS Medical College) से सम्बद्ध सवाई मानसिंह अस्पताल और अन्य अस्पतालों में एक बार फिर मरीजों की परेशानी बढ़ गई है.

  • Share this:
जयपुर. राजधानी जयपुर (Jaipur) के एसएमएस मेडिकल कॉलेज (SMS Medical College) से सम्बद्ध सवाई मानसिंह अस्पताल और अन्य अस्पतालों में एक बार फिर मरीजों की परेशानी बढ़ गई है. दो दिन पहले एसएमएस अस्पताल (SMS Hospital) के गैस्ट्रोइंट्रोलॉजी वार्ड में दो रेजिडेंट डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट (two resident doctors were beaten) के बाद रेजिडेंट डॉक्टर्स हड़ताल (Resident Doctors Strike) पर चले गए हैं. डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने के कारण मरीजों की लंबी कतारें लग गई हैं. हड़ताल पर गए डॉक्टरों ने सभी दोषियों को गिरफ्तार करने, सीसीटीवी कैमरे लगाने और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने की मांग की है.

दो दिन पहले हुई थी रेजीडेंट्स के साथ मारपीट
हड़ताल पर गए रेजीडेट्स के अनुसार दो दिन पहले उनके साथी रेजीडेंट डॉ. तौहीद अहमद और डॉ. संगीता के साथ मारपीट हुई. इस दौरान सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया. कार्य बहिष्कार करने वाले रेजीडेंट के अनुसार उन्हें मंगलवार रात को अस्पताल प्रशासन ने आश्वासन दिया था कि उनकी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था के साथ आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

मांग पूरी नहीं होने तक हड़ताल जारी रहेगी

एसोसिएशन जयपुर ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स (जार्ड) के अध्यक्ष डॉ. अजीत बागड़ा के अनुसार जब तक दोषी गिरफ्तार नहीं होते हैं, अस्तपाल में सीसीटीवी कैमरे और सुरक्षा के अन्य पुख्ता इंतजाम नहीं होते है तब तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी. इस संबंध में मंगलवार रात को प्रशासन के साथ वार्ता विफल रही है.

ये भी पढ़ें- Video: 30 रुपए का पेट्रोल भरवाकर लूट ली नोटों की गड्‌डी

जनघोषणा-पत्र: 502 बिंदुओं में महज 8 पर हुआ काम, CS ने मांगा 'एक्शन प्लान'
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 11:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...