चिकित्सा शिक्षा विभाग में चिकित्सकों की रिटायरमेंट आयु 62 से 65 वर्ष हुई

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में नए मेडीकल कॉलेज भी शुरू करने हैं और उसमें फेकल्टी की कमी को पूरा करना है. ऐसे में सरकार को यह निर्णय सोच समझकर ही लेना पड़ रहा है.

News18 Rajasthan
Updated: March 27, 2018, 2:50 PM IST
चिकित्सा शिक्षा विभाग में चिकित्सकों की रिटायरमेंट आयु 62 से 65 वर्ष हुई
कालीचरण सराफ, चिकित्सा मंत्री, राजस्थान.
News18 Rajasthan
Updated: March 27, 2018, 2:50 PM IST
राजस्थान में मेडिकल कॉलेजों की मान्यता बरकरार रहे, इसीलिए सरकार ने चिकित्सा शिक्षा विभाग के चिकित्सकों की रिटायरमेंट की आयु 62 से 65 करने का निर्णय किया है. चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में करते हुआ कि कहा कि सरकार के पास इस समय करीब तीन हजार चिकित्सकों की कमी है.

उन्होंने कहा कि चिकितसकों की रिटायरमेंट की आयु सीमा में बढ़ोत्तरी के विषय में युवा चिकित्सकों का यह सोचना कि उनके हितों पर कुठाराघात होगा, यह निराधार है.

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में नए मेडीकल कॉलेज भी शुरू करने हैं और उसमें फेकल्टी की कमी को पूरा करना है. ऐसे में सरकार को यह निर्णय सोच समझकर ही लेना पड़ रहा है.

चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने यह भी स्पष्ट किया कि 62 वर्ष की आयु पूरी कर चुके सीनियर प्रोफेसर जो अभी प्रशासनिक पदों पर हैं वे भी नियमानुसार अपने पद पर नहीं रह पाएंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2018, 2:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...