Home /News /rajasthan /

अच्छी खबर! राजस्थान के 1 लाख 11 हजार गरीब बच्चे इस साल फ्री में पढ़ेंगे नामचीन निजी स्कूलों में

अच्छी खबर! राजस्थान के 1 लाख 11 हजार गरीब बच्चे इस साल फ्री में पढ़ेंगे नामचीन निजी स्कूलों में

गोविंद डोटसरा ने कहा कि शिक्षा का अधिकार गरीब एवं दुर्बल वर्ग के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा के साथ समान योग्यता हासिल करने का अवसर देता है.

गोविंद डोटसरा ने कहा कि शिक्षा का अधिकार गरीब एवं दुर्बल वर्ग के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा के साथ समान योग्यता हासिल करने का अवसर देता है.

RTE Rajasthan Latest News: शिक्षा का अधिकार के तहत राजस्थान में शेक्षणिक सत्र 2021-22 में 1 लाख 11 हजार बच्चे प्रदेश के नामचीन प्राइवेट स्कूलों में नि:शुल्क पढ़ेंगे. इसके लिये शिक्षा विभाग की ओर से लॉटरी निकालकर सूची जारी कर दी गई है. राजस्थान में नि:शुल्क सीटों के लिये पात्र विद्यालयों की संख्या 36478 है. इनमें से केवल 25475 स्कूलों के लिये आवेदन प्राप्त हुये थे.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. राजस्थान के गरीब वर्ग के 1 लाख 11 हजार स्टूडेंट्स शिक्षा का अधिकार (Right to Education) के तहत नामचीन प्राइवेट स्कूलों में पढ़ सकेंगे. शैक्षिणक सत्र 2021-22 के लिये राजधानी जयपुर में स्थित शिक्षा संकुल में बुधवार को लॉटरी निकाली गई. लॉटरी शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने निकाली. इस मौके पर मंत्री गोविंद डोटासरा ने कहा आरटीई (RTE) के तहत गरीब बच्चे नामी निजी स्कूल में पढ़ सकेंगे यह बड़ी बात है. राज्य सरकार ने भी प्री-प्राइमरी स्कूल शुरू किए हैं. इसका भी बच्चों को काफी फायदा होगा.

शिक्षा संकुल में आयोजित कार्यक्रम में शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि हम शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए संकल्पित हैं. प्रदेश में बड़े स्तर पर शिक्षकों की भर्ती हो रही है. डोटासरा ने कहा कि शिक्षा के अधिकार के तहत गैर-सरकारी विद्यालयों में नि:शुल्क सीट्स पर प्रवेश के लिये आज ऑनलाइन लॉटरी निकाली गई. शिक्षा का अधिकार गरीब एवं दुर्बल वर्ग के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा के साथ समान योग्यता हासिल करने का अवसर देता है.

11003 स्कूलों के लिये एक भी आवेदन नहीं आया
शिक्षा विभाग के अनुसार गैर सरकारी विद्यालयों में आरटीई के तहत नि:शुल्क सीट्स के लिये लॉटरी की सूची जारी कर दी गई है. राज्य में नि:शुल्क सीटों के लिये पात्र विद्यालयों की संख्या 36478 है. इनमें से 25475 स्कूलों के लिये आवेदन प्राप्त हुये थे. 11003 स्कूलों के लिये एक भी आवेदन नहीं आया था.

लॉटरी के लिये 111098 आवेदन शामिल किये गये
लॉटरी के लिये कुल 283425 आवेदन आये थे. इनमें से 157956 बालक और 125449 बालिकायें शामिल हैं. इनके अलावा 20 आवदेन थर्ड जेंडर के आये थे. कुल आवेदनों में से लॉटरी के लिये 111098 आवेदन शामिल किये गये थे. इनमें बालकों की संख्या 62671 और बालिकाओं की संख्या 48418 है. शेष 9 थर्ड जेंडर हैं.

यहां देख सकते हैं अपनी स्कूल का नाम
शिक्षा विभाग के अनुसार लॉटरी द्वारा जारी सूची को अभिभावक विद्यालयवार प्राइवेट स्कूल वेबपोर्टल के होम पेज के वरीयता सूची पर क्लिक करके देख सकते हैं. इसके साथ ही अभिभावक आवेदन के आईडी नंबर और मोबाइल नंबर से लॉगिन करके भी वरीयता क्रमांक एक साथ देख सकते हैं.

Tags: Education Department, Govind Dotasara, Rajasthan latest news, Rajasthan News Update

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर