फिर बे'बस' होंगे यात्री : आज रात 12 बजे से प्रदेशभर में थम जाएंगे रोडवेज के पहिए

रोडवेजकर्मी अपनी मांगों को लेकर रविवार रात से 24 घंटे की हड़ताल करने वाले हैं. रविवार रात 12 बजे से रोडवेज की करीब 4 हज़ार 716 बसों के पहिए थम जाएंगे.

Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: September 16, 2018, 3:59 PM IST
फिर बे'बस' होंगे यात्री : आज रात 12 बजे से प्रदेशभर में थम जाएंगे रोडवेज के पहिए
फाइल फोटो।
Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: September 16, 2018, 3:59 PM IST
रोडवेजकर्मी अपनी मांगों को लेकर रविवार रात से 24 घंटे की हड़ताल करने वाले हैं. रविवार रात 12 बजे से रोडवेज की करीब 4 हज़ार 716 बसों के पहिए थम जाएंगे. राज्य कर्मचारी संगठनों ने भी रोडवेजकर्मियों को अपना समर्थन दिया है. इसके बावजूद अगर मांगें नहीं मानी गई तो चक्काजाम हड़ताल आगे भी बढ़ सकती है.

रोडवेजकर्मियों की इस हड़ताल की बड़ी वजह सरकार की वादा खिलाफी है. जुलाई माह में तीन दिन की हड़ताल के बाद सरकार ने संयुक्त मोर्चे से समझौता किया था. उसकी पालना नहीं होने से फिर से हड़ताल की नौबत आन पड़ी है. ऐसे में एक बार फिर प्रदेश की करीब साढ़े 7 करोड़ जनता बे'बस' होने को मजबूर है.

भूख हड़ताल भी है जारी
वहीं दूसरी तरफ हड़ताल में शामिल हुए बगैर अपना आंदोलन कर रहे राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन की भूख हड़ताल, शनिवार को भी जारी रही, लेकिन सरकार ने अभी तक इनकी सुध नहीं ली है. इसके कारण भूख हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों की तबीयत बिगड़ने लगी है. कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती है तब तक भूख हड़ताल जारी रहेगी.

राज्य कर्मचारी संगठनों ने दिया समर्थन
आंदोलनरत रोडवेजकर्मियों को अब सब तरफ से समर्थन मिलने लगा है. आंदोलन के समर्थन में आए राज्य कर्मचारी संगठनों ने घोषणा की है कि सरकार अगर रोडवेज कर्मचारियों की मांगें नहीं मानती है तो राज्य में आम हड़ताल भी हो सकती है. शनिवार को केन्द्रीय श्रमिक संगठन, केन्द्रीय कर्मचारी, राज्य कर्मचारी संगठन, बैंक यूनियन व अन्य कर्मचारी संगठनों ने राजस्थान रोडवेज को अपना समर्थन दिया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर