रॉबर्ट वाड्रा पहुंचे जयपुर, कल ED करेगा सवाल-जवाब, यह है पूरा मामला

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बीकानेर के कोलायत में जमीन घोटाले से जुड़े मामले में 64.5 लाख रु. की संपत्ति को अटैच किया है. इस केस में अब तक प्रवर्तन निदेशालय 1.82 करोड़ रु. की संपत्ति अटैच कर चुका है.

Rakesh sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 11, 2019, 6:18 PM IST
रॉबर्ट वाड्रा पहुंचे जयपुर, कल ED करेगा सवाल-जवाब, यह है पूरा मामला
राबर्ट वाड्रा। फाइल फोटो
Rakesh sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 11, 2019, 6:18 PM IST
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बीकानेर के कोलायत में जमीन घोटाले से जुड़े मामले में पिछले दिनों 64.5 लाख रु. की संपत्ति को अटैच किया है.  इस केस में अब तक प्रवर्तन निदेशालय 1.82 करोड़ रु. की संपत्ति अटैच कर चुका है. यह संपत्ति 12 लोगों व एक कंपनी डॉफिन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड की है जो जमीन घोटाले से जुड़े बताए जा रहे हैं.

इसी कंपनी से राबर्ट वाड्रा जुड़े हुए हैं और इसी मामले में मंगलवार को ईडी के सामने वाड्रा की पेशी होनी है. ईडी के सामने पेश होने के लिए रॉबर्ट वाड्रा सोमवार को जयपुर पहुंच चुके हैं. वाड्रा के साथ उनकी मां भी आई हैं. वाड्रा दोपहर में फ्लाइट से जयपुर पहुंचे हैं.

रॉबर्ट आज आएंगे जयपुर, ईडी कल करेगा पूछताछ, प्रियंका के आने की भी संभावना



राजस्थान में 12 फरवरी को होगी रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ, ईडी करेगा सवाल-जवाब

विस्थापित लोगों को अलॉट की जानी थी जमीन
घोटाले में फंसी इस जमीन को बीकानेर के महाजन फील्ड फायरिंग रेंज के विस्थापित लोगों को अलॉट की किया जाना था. ईडी की यह कार्रवाई प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉड्रिंग एक्ट के तहत की गई है. इस मामले में कोलायत और बीकानेर के थानों में 18 एफआईआर दर्ज हैं. ये एफआईआर अगस्त और सितंबर 2014 में दर्ज की गई थी. अगस्त 2015 में इस मामले में आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई थी.

राजनीतिक फायदे के लिए जबरन घसीटा जा रहा है मेरी मां का नामः रॉबर्ट वाड्रा
Loading...

खाली अलॉटमेंट लैटर और स्टैंप चुराए गए थे
ईडी की जांच में पाया गया था कि जमीन घोटाले से जुड़े लोग सरकारी जमीन हथियाने के फेर में थे. इनमें आरोपी रणजीत सिंह और जयप्रकाश ने बीकानेर स्थित कॉलोनाइजेशन विभाग के दफ्तर से खाली अलॉटमेंट लैटर और स्टैंप चुराए थे. ये कागज उस खाली सरकारी जमीन के थे जो महाजन फील्ड फायरिंग रेंज के विस्थापित लोगों को अलॉट की जानी थी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...