Home /News /rajasthan /

शिक्षकों के तबादलों का दौर थमा, शुक्रिया का हुआ शुरू, मंत्री के घर लगा जमावड़ा

शिक्षकों के तबादलों का दौर थमा, शुक्रिया का हुआ शुरू, मंत्री के घर लगा जमावड़ा

बकौल डोटासरा एक-एक विधायकों और मंत्रियों को तबादले की पर्सनल जानकारी दी गई है. जो भी शिकायत आई उसका तत्काल समाधान किया गया है.

बकौल डोटासरा एक-एक विधायकों और मंत्रियों को तबादले की पर्सनल जानकारी दी गई है. जो भी शिकायत आई उसका तत्काल समाधान किया गया है.

तबादलों (Transfers) का महाकुंभ संपन्न होने के बाद अब कांग्रेस के विधायकों (Congress MLAs) के चेहरे पर रौनक लौट आई है. शिक्षकों के दबाव में तने घूम रहे विधायक अब राहत (Relief) महसूस कर शिक्षा राज्यमंत्री के घर में शुक्रिया (Thanks) अदा करने पहुंच रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. तबादलों (Transfers) का महाकुंभ संपन्न होने के बाद अब कांग्रेस के विधायकों (Congress MLAs) के चेहरे पर रौनक लौट आई है. शिक्षकों के दबाव में तने घूम रहे विधायक अब राहत (Relief) महसूस कर शिक्षा राज्यमंत्री  के घर में शुक्रिया (Thanks) अदा करने पहुंच रहे हैं. कांग्रेस के विधायकों ने शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Minister of State for Education Govind Singh Dotasara) को तबादला परीक्षा (Transfer exam) में 100 में 100 अंक दे डाले हैं, जबकि महीनेभर पहले नजारा बिल्कुल उलटा था.

मंत्री डोटासरा के घर लगा हुआ है जमावड़ा
अब एक-एक विधायक डोटासरा के घर आकर बधाई दे रहे हैं. टोडाभीम के विधायक पीआर मीना ने 250 तबादलों की एप्लीकेशन थमाई थी. ये इतने खुशकिस्मत निकले कि इनके पूरे के पूरे तबादले ही गए. अब वे मंत्री का शुक्रिया अदा करते हुए कह रहे हैं कि जो काम नामुमकिन था उसे गोविंद डोटासरा ने मुमकिन कर दिखाया.

इस बार संतुष्टि का पैमाना बदला हुआ है
राजनीतिक गलियारों में शिक्षकों के तबादलों को अहसान फरामोशी का पर्याय माना जाता है. कितने ही तबादले करा दो, लेकिन माननीय संतुष्ट ही नहीं होते हैं. लेकिन इस बार तो संतुष्टि के पैमाने की परिभाषा बदल गई है. राजाखेड़ा के विधायक रोहित बोहरा की ओर से थमाई सूची में से 95 फीसदी तबादले हो गए. धौलपुर जिले में जहां भी इनके इलाके के शिक्षकों ने पोस्टिंग मांगी उन्हें शिक्षा महकमे ने दे डाली. अब विधायक खुश हैं.

मंत्रियों और विधायकों को उनके क्षेत्र तक ही सीमित रखा गया
मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का दावा है कि उनकी टीम ने एकल महिला, परित्यक्ता, विकलांग और बीमार शिक्षकों का ट्रांसफर में खास ध्यान रखा है. मंत्रियों और विधायकों को उनके विधानसभा क्षेत्र तक ही सीमित रखा गया है. जिसने इधर-उधर दखल देने की कोशिश की उनके ट्रांसफर सबसे कम हुए हैं.

तबादले की पर्सनल जानकारी दी गई है
बकौल डोटासरा एक-एक विधायकों और मंत्रियों को तबादले की पर्सनल जानकारी दी गई है. जो भी शिकायत आई उसका तत्काल समाधान किया गया है. तबादलों से असंतुष्ट शिक्षकों से परिवेदनाएं लेकर उनकी जांच के बाद जो प्रकरण सही पाए गए उन्हें राहत भी दी गई है.

पत्नी से वेश्यावृत्ति कराना चाहता था पति, इनकार किया तो दिया ट्रिपल तलाक

निकाय चुनाव: प्रदेश के इस वार्ड में 9 मत पाने वाला प्रत्याशी बन जाएगा पार्षद

Tags: Congress, Jaipur news, Rajasthan Education Department, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर