• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • RAS विवाद में घिरे डोटासरा को मिला पायलट कैंप का साथ, कांग्रेस MLA के बयान से बढ़ी सियासत

RAS विवाद में घिरे डोटासरा को मिला पायलट कैंप का साथ, कांग्रेस MLA के बयान से बढ़ी सियासत

गोविंद सिंह डोटासरा के समर्थन में पायलट कैंप के विधायक ने दिया बड़ा बयान.

Rajasthan Politics: राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) परीक्षा को लेकर विवादों में फंसे पीसीसी चीफ और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) को पायलट कैंप (Sachin Pilot) का साथ मिला है.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) परीक्षा में विवाद को लेकर बीजेपी के निशाने पर आए राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा (Education Minister Govind Singh Dotasara) को अब सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमे के विधायकों का साथ मिला है. इसके बाद राजस्थान में अब नई सियासी चर्चाएं शुरू हो गई हैं, क्योंकि पहली बार डोटासरा के समर्थन में ऐसे बयान सामने आया है. कांग्रेस विधायक मुकेश भाकर (Mukesh Bhaker) ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि उन्हें टारगेट किया जा रहा है. जबकि, गोविन्द सिंह डोटासरा ने शिक्षा मंत्री के तौर पर अच्छा काम किया है.

दरअसल, कांग्रेस प्रभारी अजय माकन से मिलने के बाद कांग्रेस विधायक मुकेश भाकर मीडिया से बातचीत कर रहे थे. इस दौरान गोविन्द सिंह डोटासरा की तारीफ करते हुए मुकेश भाकर ने कहा कि गोविन्द सिंह डोटासरा ने शिक्षा मंत्री के तौर पर अच्छा काम किया है. शिक्षा में भगवाकरण को उन्होंने रोका है. डोटासरा ने आरएसएस से मुकाबला किया, इसलिए उन्हें टारगेट किया जा रहा है.

मुकेश भाकर ने दिया बड़ा बयान

मुकेश भाकर यही नहीं रुके. उन्होंने ये तक कह दिया कि हम तो पहले ही कह चुके है कि एक अच्छे व्यक्ति को पार्टी ने अध्यक्ष बनाया है. हालांकि, इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या डोटासरा बतौर प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट से भी बेहतर है? तो मुकेश भाकर ने कहा कि आप सचिन पायलट और गोविन्द सिंह डोटासरा की तुलना क्यों कर रहे है?

क्या होंगे सियासी मायने

सम्भवतया ये पहली बार है जब गोविन्द सिंह डोटासरा के समर्थन में कोई बयान सामने आया है और वो भी सचिन पायलट खेमे के विधायक का. इसको लेकर अब हर कोई अपने ढंग से इसके मायने निकाल रहा है. वहीं, तीन दिन पहले ही सचिन पायलट खेमे से जुड़े पांच विधायकों ने भी डोटासरा से मुलाकात की थी.

जानें क्या है पूरा विवाद

राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) का रिजल्ट आने के बाद गहलोत सरकार के मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा विवादों में घिर गए. दरअसल आरएएस एवं अधीनस्थ सेवा 2016 और 2018 के इंटरव्यू में मंत्री के रिश्तेदारों को समान अंक मिले. जिन अभ्यर्थियों को एक जैसे नंबर मिले वो पीसीसी चीफ और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की बहू के भाई और बहन है. मामला सामने आने के बाद बीजेपी के निशाने पर शिक्षा मंत्री डोटासरा आ गए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज