पायलट खेमे के MLA दीपेंद्र शेखावत बोले- पदों के लिए सौदेबादी की खबरें झूठी, हम तो सिर्फ...

शेखावत ने कैबिनेट, बोर्ड और निगमों में पदों के लिए सौदेबाजी की खबरों को निराधार बताया..

पायलट खाली हाथ दिल्ली से वापस जयपुर लौट आए हैं लेकिन पायलट खेमे द्वारा बयानबाजियों का दौर जारी है. अब पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और श्रीमाधोपुर सीट से कांग्रेस के विधायक दीपेन्द्र सिंह शेखावत ने पार्टी के लिए खून-पसीना बहाने वाले कार्यकर्ताओं के लिए मान-सम्मान की मांग की है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के सियासी घमासान में फिलहाल पायलट खेमे के हाथ कुछ नहीं लगा है और पायलट भी खाली हाथ दिल्ली से वापस जयपुर लौट आए हैं लेकिन पायलट खेमे द्वारा बयानबाजियों का दौर जारी है. अब पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और श्रीमाधोपुर सीट से कांग्रेस के विधायक दीपेन्द्र सिंह शेखावत ने अपना बयान जारी किया है. इस बयान में दीपेन्द्र सिंह शेखावत ने जहां पार्टी के लिए खून-पसीना बहाने वाले कार्यकर्ताओं के लिए मान-सम्मान की मांग की है तो वहीं प्रदेश में हुई राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर भी सवाल उठाए हैं. शेखावत ने कैबिनेट, बोर्ड और निगमों में पदों के लिए सौदेबाजी की खबरों को बिल्कुल झूठ और निराधार बताते हुए कहा है कि पायलट और हम सभी राजस्थान में जमीनी स्तर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए सम्मान और स्वाभिमान की लड़ाई लड़ रहे हैं. गौरतलब है कि दीपेन्द्र सिंह शेखावत पिछले साल हुई बाड़ेबंदी में पायलट खेमे के साथ थे.

कार्यकर्ताओं को सम्मान देने की जरूरत
शेखावत ने कहा कि जिन लोगों ने पार्टी के मुश्किल समय में मेहनत की और पार्टी के लिए खून पसीना बहाया उन्हे पर्याप्त मान-सम्मान दिए जाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने 2014 के बाद से वसुंधरा राजे और मोदी के नेतृत्व की भाजपा सरकारों के कोप का डटकर सामना किया, जिन लोगों ने 2013 में कांग्रेस पार्टी की सबसे बुरी हार के बाद पार्टी को पुनर्जीवित करने के लिए अपना खून-पसीना बहाया और 200 में से केवल 21 सीटें प्राप्त करने के बाद भी हौंसला कायम रखा ऐसे लोगों को जब पार्टी सत्ता में है तो मान-सम्मान दिए जाने की जरुरत है.

कार्यकर्ताओं को मिले राजनीतिक नियुक्तियां
दीपेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि राजनीतिक नियुक्तियां उन लोगों को दी जानी चाहिए जिन लोगों ने मतदान केन्द्रों पर कांग्रेस को जीत दिलाने का जिम्मा उठाया था ना कि ऐसे सेवानिवृत्त नौकरशाहों और अधिकारियों को जिनकी पार्टी के प्रति वफादारी अस्थायी है. गौरतलब है कि पार्टी के दूसरे विधायकों ने भी राजनीतिक नियुक्तियों में सेवानिवृत्त अधिकारियों को तवज्जो दिए जाने पर सवाल उठाए हैं. दीपेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि हमारे द्वारा उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिए हमें पार्टी आलाकमान पर पूरा भरोसा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.