• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan Crisis: पायलट-राहुल की मुलाकात के बाद सियासी संकट पर विराम! सोनिया गठित करेंगी 3 लोगों की कमेटी

Rajasthan Crisis: पायलट-राहुल की मुलाकात के बाद सियासी संकट पर विराम! सोनिया गठित करेंगी 3 लोगों की कमेटी

मुलाकात के दौरान सचिन पायलट ने राहुल गांधी से खुलकर बात की.

मुलाकात के दौरान सचिन पायलट ने राहुल गांधी से खुलकर बात की.

कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) ने बयान जारी करते हुए कहा कि सोमवार को सचिन पायलट (Sachin Pilot) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की मुलाकात हुई है.

  • Share this:
    जयपुर. राजस्‍थान का सियासी संकट अब थमता नजर आ रहा है. सोमवार को सचिन पायलट (Sachin Pilot) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की मुलाकात के बाद माहौल एकदम बदला बदला सा नजर आ रहा है. शाम होते होते एक तरफ राजस्‍थान के पूर्व डिप्‍टी सीएम पायलट के समर्थक विधायक भंवरलाल शर्मा ने मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की, तो दूसरी तरफ कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) ने बयान जारी करते हुए एक बड़ा खुलासा किया है. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने राजस्थान के पूर्व डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट की राहुल गांधी से मुलाकात के बाद सोमवार को तीन सदस्यीय समिति गठित करने का फैसला किया ताकि पायलट और उनके समर्थक विधायकों द्वारा उठाए गए मुद्दों का निदान हो सके और मामले का उचित समाधान किया जा सके.

    केसी वेणुगोपाल ने कही ये बात
    कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि सोमवार को सचिन पायलट ने राहुल गांधी से मिलकर विस्तार से बातचीत की. दोनों के बीच बहुत खुले और दोस्ताना स्तर पर बातचीत हुई. बातचीत में सचिन ने राहुल गांधी से वादा किया कि वो राजस्थान में कांग्रेस के साथ और उसके हित में काम करेंगे. इस मीटिंग के बाद सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने तय किया कि कांग्रेस तीन लोगों की एक कमेटी बनाएगी, जो सचिन पायलट और बागी विधायकों के उठाए मुद्दों का समाधान तलाशेगी.

    ऐसे बदला माहौल
    इससे पहले, राजस्थान विधानसभा के प्रस्तावित सत्र से कुछ दिनों पहले पूर्व डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट ने सोमवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात की. जिसके बाद राज्य में चल रही सियासी उथल-पुथल थमने की उम्मीद है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी के आवास पर इस मुलाकात में करीब दो घंटे तक चर्चा हुई. जबकि राजस्थान कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष ने पार्टी के दोनों शीर्ष नेताओं के समक्ष विस्तार से अपना पक्ष रखा और फिर दोनों ने उनकी चिंताओं के निदान का भरोसा दिलाया है. सच कहा जाए तो इस मुलाकात के बाद ही सियासी संकट थमता नजर आ रहा है.

    आपको बता दें कि मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ खुलकर बगावत करने और विधायक दल की बैठकों में शामिल नहीं होने के बाद कांग्रेस आलाकमान ने पायलट को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री के पदों से हटा दिया था. इसके बाद पायलट और उनके साथी 18 अन्य विधायकों की बगावत के कारण गहलोत सरकार मुश्किल में आ गई. गहलोत और कांग्रेस अपनी सरकार बचाने के लिए पिछले कई हफ्तों से जुटे हुए हैं. पहले विधायकों को जयपुर के होटल में रखा गया था और बाद में उन्हें जैसलमेर के एक होटल में भेज दिया गया. हालांकि पिछले कई हफ्तों से चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच कांग्रेस ने बार-बार दोहराया है कि अशोक गहलोत सरकार के पास 100 से अधिक विधायकों का समर्थन है और उसके ऊपर कोई खतरा नहीं है.

    भाजपा ने किया ये दावा
    राजस्थान में सचिन पायलट की अगुआई वाले असंतुष्ट खेमे और सीएम अशोक गहलोत के बीच सुलह होने के संकेत मिल रहे हैं. इस बीच, बीजेपी ने भी अपने विभिन्न विकल्पों पर विचार मंथन शुरू कर दिया है. बीजेपी 14 अगस्त को विधान सभा सत्र शुरू होने से पहले एकजुटता प्रदर्शित करने की कोशिश में जुट गई है. बीजेपी विधायक दल के नेता गुलाब चंद कटारिया ने गहलोत सरकार को लेकर बहुत बड़ा दावा किया है. उन्‍होंने कहा है कि कांग्रेस में एकता होगी भी तो अस्थायी रहेगी और सरकार देर-सबेर गिर जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज