सचिन पायलट बोले- मैं हर कीमत पर अपने कार्यकर्ताओं और लोगों के साथ

सियासी घमासान के बाद सुलह के लिये बनी एआईसीसी की कमेटी की रिपोर्ट पर पायलट ने कहा जो कदम उठाने हैं या उठाए जा रहे हैं उनका जल्द ही सबको पता चल जाएगा.
सियासी घमासान के बाद सुलह के लिये बनी एआईसीसी की कमेटी की रिपोर्ट पर पायलट ने कहा जो कदम उठाने हैं या उठाए जा रहे हैं उनका जल्द ही सबको पता चल जाएगा.

पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा कि वे हमेशा अपने कार्यकर्ताओं और लोगों के साथ हैं. इसमें किसी को कोई शंका नहीं रहनी चाहिये. पायलट के इस बयान के कई राजनीतिक मायने (Political sense) निकाले जा रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने बड़ा बयान दिया है. पायलट ने कहा है कि वह हर कीमत पर अपने कार्यकर्ताओं और लोगों के साथ रहेंगे. इसमें किसी को कोई आशंका नहीं रहनी चाहिए. नगरीय निकाय निकाय चुनावों (Local Body Elections) में प्रदेश से बाहर रहने के सवाल पर पायलट ने कहा कि वे हमेशा से प्रदेश में उपलब्ध रहे हैं और रहेंगे. कांग्रेस की अंदरुनी सियासत को देखते हुए पायलट के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं.

गुर्जर आंदोलन पर पायलट ने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से सब बातों का समाधान ढूंढा जा सकता है. जो बातें हम लोगों ने कही हैं, उन्हें पूरा करेंगे. उसमें किसी तरीके की आशंका नहीं होनी चाहिए. सरकार और बाकी लोग भी अपने स्तर पर काम कर रहे हैं और जल्द ही इसका समाधान होगा. वार्ता अभी जारी है. जल्द ही शांतिपूर्वक तरीके से इसका समाधान होगा.

शिक्षा राज्यमंत्री की चेतावनी: फीस लेने के बावजूद ऑनलाइन क्लासेज नहीं वाले स्कूलों पर होगी कार्रवाई



पंचायत चुनाव में भी कांग्रेस की जीत होगी
सियासी घमासान के बाद सुलह के लिये बनी एआईसीसी की कमेटी की रिपोर्ट पर पायलट ने कहा जो कदम उठाने हैं या उठाए जा रहे हैं, उनका जल्द ही सबको पता लग जाएगा. लेकिन, अभी हमारा उद्देश्य यह है कि पंचायत चुनाव में कांग्रेस अच्छा परफॉर्मेंस करे. कमेटी को जो कदम उठाने हैं, उनका सही समय पर सबको पता लग जाएगा. पायलट ने दावा किया कि पंचायत चुनाव में भी कांग्रेस की जीत होगी.



कृषि कानून पंचायत चुनावों में मुद्दा बनेंगे
सचिन पायलट ने दावा किया कि पंचायत चुनाव में कांग्रेस की जीत होगी. कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता मजबूती के साथ काम कर रहे हैं. शहरों में हम जीते हैं तो गांवों में भी जीतेंगे. पायलट ने कहा कि सब लोग समन्वय से काम कर रहे हैं. केन्द्रीय कृषि कानूनों को लेकर पायलट ने कहा कि ये पंचायत चुनाव में मुद्दा हैं. केंद्र सरकार अपने खुद के कैबिनेट मंत्री को तो समझा नहीं पाई और उन्होंने इस्तीफा दे दिया. अब वह किसानों को क्या समझाएगी. केंद्र सरकार ने किसानों का भविष्य बेचने का काम किया है. हमारी सरकार ने राजस्थान में संशोधन पास किया है. प्रदेश की सरकार किसान हितैषी है. बीजेपी अगर कोई गलत कदम उठाएगी उसका विरोध करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज