Home /News /rajasthan /

जयपुर के सर्वज्ञ भारिल्ल डायरेक्ट सेलिंग के मास्टर हैं, पशुओं के इलाज के लिए चलवाते हैं एम्बुलेंस

जयपुर के सर्वज्ञ भारिल्ल डायरेक्ट सेलिंग के मास्टर हैं, पशुओं के इलाज के लिए चलवाते हैं एम्बुलेंस

सर्वज्ञ भारिल्ल आंत्रप्रिन्योर होने के साथ ही समाज सेवा में भी रुचि रखते हैं.

सर्वज्ञ भारिल्ल आंत्रप्रिन्योर होने के साथ ही समाज सेवा में भी रुचि रखते हैं.

Jaipur News: उद्यमिता में गहन रुचि सर्वज्ञ को बचपन से ही रही है. बचपन के दिनों को याद करते हुए सर्वज्ञ ने कहा कि मात्र 10 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपने 2 दोस्तों के साथ मिलकर बच्चों का क्लब खोल लिया था. जिसमें वह उन्हें खेलने के लिए जगह देते थे. उसका मेम्बरशिप चार्ज लेते थे.

अधिक पढ़ें ...

    जयपुर. इंसान के अंदर अगर सेवा भाव करने की भावना हो तो वह कुछ भी कर सकता है. ऐसे ही एक शख्स हैं राजस्थान के सर्वज्ञ भारिल्ल. जो पशुओं के लिए एम्बुलेंस चलवाते हैं. पशु प्रेमी सर्वज्ञ ‘पीपल फ़ॉर एनिमल लिबरेशन’ (PAL) संस्था भी चलाते हैं. यह संस्था पशु अधिकार पर लोगों को जागरूक करती है. इस संस्था द्वारा भारत के अनेक शहरों में शांतिपूर्ण प्रदर्शन और जुलूस निकालकर जागरूकता का कार्य किया जा रहा है, जिसे पूर्व में इंटर्नैशनल मीडिया ने भी कवर किया है.

    इस सम्बंध में कई टीवी चैनलों की प्राइम टाइम डिबेट में पशुओं और शाकाहार के पक्ष में अपने तर्क प्रस्तुत किए है. सर्वज्ञ भारिल्ल जयपुर में आर्थिक सहयोग से पशुओं के लिए ऐम्ब्युलन्स सेवा का संचालन करते है जो कॉल रिसीव कर घायल पशु के पास पहुंचकर उनका इलाज करती है. संस्था PETA और Mercy for Animals के साथ मिलकर काम करती है.

    पर्यावरण के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी समझते हुए इस साल सर्वज्ञ ने अपने जन्मदिन पर 1000 पौधे भी लगाए हैं. ये सभी पौधे औषधीय हैं, जो कुछ ही महीनों में आयुर्वेदिक दवा बनाने के उपयोग में आएंगे. सर्वज्ञ भारिल्ल ने स्नातक फ़िलासफ़ी में किया है तथा आध्यात्मिक विषयों पर प्रवचन भी करते है. हाल ही में कई एंजल इन्वेस्टमेंट ग्रुप से जुड़कर उन्होंने स्टार्ट-उप कंपनीयों को फंड भी किया है.

    डाइरेक्ट सेलिंग में पूरे किए 10 वर्ष

    बचपन से आंत्रेप्रेनेरशिप में रुचि रखने वाले सर्वज्ञ भारिल्ल ने डाइरेक्ट सेलिंग व्यवसाय में हाल ही में 10 साल पूर्ण किए. दुनिया की टॉप बिजनेस स्कूल में गिने जाने वाला इंग्लैंड स्थित वॉरिक बिज़नेस स्कूल से मैंनेजमेंट की पढ़ाई करने के पश्चात उन्होंने डाइरेक्ट सेलिंग व्यवसाय को चुना और इसी में दिन और रात मेहनत की. डाइरेक्ट सेलिंग व्यवसाय लोगों को उद्यमिता के लिए प्रेरित करता है, यह व्यवसाय मैन्युफ़ैक्चरर से सीधा कंजयूमर तक अपने उत्पाद पहुंचाकर मिडलमेन की आवश्यकता को ख़त्म करता है और मिडलमैन जैसे एजेंट, डिस्ट्रिब्यूटर, रीटेलर और विज्ञापनों में बंटने वाले पैसे का फ़ायदा कंजयूमर को ही दिलाता है. ऐसा करके लाखों कंजयूमर का नेट्वर्क डाइरेक्ट सेलिंग के माध्यम से FMCG उत्पादों को इस्तेमाल कर पैसों की बचत कर पाता है और अपने द्वारा रेफ़र्ड डिस्ट्रिब्युटर के माध्यम से कमीशन भी कमाता है.

    दो दोस्तों के साथ 10 साल की छोटी उम्र में खोला था क्लब 

    उद्यमिता में गहन रुचि सर्वज्ञ को बचपन से ही रही है. बचपन के दिनों को याद करते हुए सर्वज्ञ ने कहा कि मात्र 10 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपने 2 दोस्तों के साथ मिलकर बच्चों का क्लब खोल लिया था. जिसमें वह उन्हें खेलने के लिए जगह देते थे. उसका मेम्बरशिप चार्ज लेते थे, मेंबरशिप लेने वालों को जगह के साथ खेलने के लिए साथी भी मिल जाते थे. इतनी कम उम्र में सर्वज्ञ ने कमाई का स्त्रोत शुरू कर लिया था.

    हमेशा सफलता ही मिली ऐसा नही हुआ, अपने कॉलेज के दिनों में उन्होंने पब्लिशिंग हाउस भी खोला जिसमें कई विदेशी लेखकों की पुस्तकों को उन्होंने भारत में स्थानीय भाषा में पब्लिश करने का सोचा, इसके लिए वे कई दिन अपने शहर से दूर दिल्ली में रहते थे ताकि पुस्तकों का डिस्ट्रिब्यूशन हो सकें. पर डेढ़ साल बाद ही इस व्यापार में नुक़सान उठाकर कंपनी बंद कर दी.

    डायरेक्ट सेलिंग के वीडियोज को 1 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया

    सोशल मीडिया पर सर्वज्ञ के डाइरेक्ट सेलिंग से सम्बंधित लाइव तथा वीडियोज़ को 1 करोड़ से भी अधिक बार देखा जा चुका है. इन वीडियो के माध्यम से वे लोगों तक सही डाइरेक्ट सेलिंग कंपनी को चुनने और उन्ही के साथ व्यापार करना सिखाते हैं. डाइरेक्ट सेलिंग की आड़ में कई लोग ग़लत उद्देश्य से पोंज़ी स्कीम भी चलाते हैं, जो क़ानून के ख़िलाफ़ है और इन्हें रोकने हेतु सरकार उन पर गाइडलाइन भी लेकर आयी है.

    Tags: Jaipur news, Rajasthan news, Rajasthan news in hindi

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर