Home /News /rajasthan /

राजस्थान यूनिवर्सिटी में ABVP और NSUI कार्यकर्ता आमने-सामने

राजस्थान यूनिवर्सिटी में ABVP और NSUI कार्यकर्ता आमने-सामने

गांधीनगर थाने के बाहर भी छात्रों ने हंगामा किया.

गांधीनगर थाने के बाहर भी छात्रों ने हंगामा किया.

राजस्थान यूनिवर्सिटी कैम्पस में प्रचार के अंतिम दिन एबीवीपी, एनएसयूआई और निर्दलीय प्रत्याशी और उनके समर्थक केन्द्रीय पुस्तकालय के पास आपस में उलझ गए.

    राजस्थान यूनिवर्सिटी में हंगामा मचाते छात्रों पर बुधवार को जयपुर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया. कैम्पस में प्रचार के अंतिम दिन एबीवीपी, एनएसयूआई और निर्दलीय प्रत्याशी और उनके समर्थक केन्द्रीय पुस्तकालय के पास आमने-सामने हो गए. लाइब्रेरी के छज्जे पर चढ़कर नारेबाजी करने लगे. जबकि नीचे समर्थक आपस में उलझ गए. ऐसे में पुलिस ने प्रत्याशियों और उनके समर्थकों को यहां से खदेड़ने के लिए हल्का बल प्रयोग किया.

    ये भी पढ़ें- छात्र संघ चुनाव का प्रचार थमा, अब 31 अगस्त को वोटिंग

    हंगाम के दौरान पुलिस ने एबीवीपी और निर्दलीय अध्यक्ष पद के प्रत्याशियों को राजस्थान यूनिवर्सिटी से लेकर गांधी नगर थाने लेकर पहुंची. जहां भी समर्थकों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस दौरान भी पुलिस ने छात्रों को तितर बितर किया. इसके बाद कैम्पस में फ्लेग मार्च कर पुलिस ने स्थिति नियंत्रण में ली.

    लाठीचार्ज करके हमें गिरफ्तार किया गया और थाने ले जाकर हमसे मारपीट की गई.
    दिनेश, महासचिव प्रत्याशी, एबीवीपी


    कुछ छात्र आमने-सामने हो गए थे. समय पर पहुंचकर पुलिस ने उन्हें वहां से हटाया.
    राजपाल गोदारा, एसीपी, गांधी नगर


    बता दें कि 31 अगस्त को जोधपुर को छोड़ कर प्रदेशभर की यूनिवर्सिटी और कॉलजों में छात्रसंघ चुनाव के लिए वोटिंग होनी है. लेकिन मतदान की प्रक्रिया को शांतिपूर्वक सम्पन्न करवाना युनिवर्सिटी प्रशासन के साथ ही पुलिस के लिए भी बड़ी चुनौती है. मतदान के दिन किसी भी तरह की अव्यवस्था नहीं हो साथ ही लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति कायम रहे इसके लिए राजस्थान यूनिवर्सिटी प्रशासन और जयपुर कमिश्नरेट पुलिस ने भी खास बंदोबस्त किए.

    Tags: Jaipur news, Rajasthan news, Rajasthan University

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर