लाइव टीवी

वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा: 50 से ज्यादा MLA-MP कर चुके हैं सरकार से ये सिफारिश...
Jaipur News in Hindi

Mahesh Dadhich | News18 Rajasthan
Updated: May 21, 2020, 12:53 PM IST
वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा: 50 से ज्यादा MLA-MP कर चुके हैं सरकार से ये सिफारिश...
अभ्यर्थी चाहते हैं कि जिस तरह से एलडीसी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन नियुक्ति दी जा रही है उसी तरह से इन्हें भी नियुक्ति दी जा सकती है.

वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा-2018 (Senior teacher recruitment examination) के अभ्यर्थियों को परिणाम के बाद अभी तक नियुक्तियां नहीं मिल पाई है.

  • Share this:
जयपुर. वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा-2018 (Senior teacher recruitment examination) के अभ्यर्थियों को परिणाम के बाद अभी तक नियुक्तियां नहीं मिल पाई है. नियुक्ति की बाट जोह रहे अभ्यर्थियों ने इसके लिए 50 से ज्यादा सांसदों, विधायकों और जनप्रतनिधियों की सिफारिशें तक करा दी हैं, लेकिन अभी तकइसका कोई समाधान नहीं हो पाया है. अब इस मुद्दे को लेकर राजनीति (Politics) तेज होती जा रही है.

अक्टूबर और नवंबर 2018 में परीक्षा हुई थी
कोरोना संकट के कारण प्रतियोगी परीक्षाओं के परिणाम और नियुक्तियों के अटकने से बेरोजगारों को काफी समस्याएं झेलनी पड़ रही हैं. आरपीएससी की वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा-2018 का भी कुछ ऐसा ही मामला है. इस भर्ती परीक्षा में अलग-अलग विषयाध्यापकों के लिए अक्टूबर और नवंबर 2018 में परीक्षाएं आयोजित की गई थी. उसके बाद हाल ही में मार्च के महीने में आरपीएससी ने इसका अंतिम परिणाम भी जारी कर दिया. लेकिन 9,322 नव चयनितों की मंडल आवंटन और नियुक्ति की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ सकी है.

यह है अभ्यर्थियों की डिमांड



आरपीएससी की ओर से कार्यवाही पूरी होने के बाद इस मामले को माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को सौंप दिया गया है. लेकिन निदेशालय से अभ्यर्थियों अभी तक मंडल आवंटन और नियुक्तियां नहीं मिल सकी है. वरिष्ठ अध्यापक भर्ती के अभ्यर्थी चाहते है कि जिस तरह से एलडीसी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन नियुक्ति दी जा रही है उसी तरह से इन्हें भी नियुक्ति दी जा सकती है. राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बैनर तले भी अभ्यर्थियों ने अपनी मांगों को उठाया. अब सोशल मीडिया का सहारा लेकर अभ्यर्थियों ने सरकार तक अपनी मांग पहुंचाने का रास्ता अख्तियार किया है.



बीजेपी कांग्रेस पर साध रही है निशाना
इसके साथ ही 50 से ज्यादा विधायकों, सांसदों और जनप्रतिनिधियों के पत्र भी इस संबंध में सरकार को ध्यान आकर्षित कराने के लिए भेजे गए हैं. जगहों जगहों पर अभ्यर्थी इन दिनों ज्ञापन भेजते दिखाई दे रहे हैं. लेकिन बीजेपी के सांसद और विधायक इस भर्ती के जरिए ही अन्य सभी भर्तियों को लेकर भी कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते नजर आ रहे है. वहीं कांग्रेस उन पलटवार कर रही है.

1 जून से राजस्थान के इन शहरों के लिए शुरू होगी रेल सेवा, देखें सूची...

Weather: सुलगने लगा पश्चिमी राजस्थान, बाड़मेर में 44.8 डिग्री पहुंचा पारा
First published: May 21, 2020, 10:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading