कांग्रेस का सॉफ्ट हिंदुत्व: सदन में फिर छाई गाय, पार्टी विधायकों ने कहा 'गौमाता'

विधानसभा में शुक्रवार को कांग्रेस विधायकों का सॉफ्ट हिंदुत्व देखने को मिला. कांग्रेस विधायक शकुंतला रावत ने गौशालाओं को जमीन आवंटन और रजिस्ट्री तहसील स्तर पर करवाने का संकल्प सदन में रखा. रावत के संकल्प का बीजेपी ने सदन में समर्थन किया.

News18 Rajasthan
Updated: August 3, 2019, 10:59 AM IST
कांग्रेस का सॉफ्ट हिंदुत्व: सदन में फिर छाई गाय, पार्टी विधायकों ने कहा 'गौमाता'
राजस्थान विधानसभा। फाइल फोटो
News18 Rajasthan
Updated: August 3, 2019, 10:59 AM IST
राजस्थान विधानसभा में सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी का सॉफ्ट हिंदुत्व देखने को मिला है. शुक्रवार को पार्टी की विधायक शकुंतला रावत ने सदन में गौशालाओं को जमीन आवंटन और रजिस्ट्री तहसील स्तर पर करवाने का संकल्प रखा. शकुंतला रावत के संकल्प का बीजेपी ने सदन में समर्थन किया. संकल्प पर बोलते हुए ज्यादातर कांग्रेस विधायकों ने गाय को माता कहकर संबोधित किया.

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने किया संकल्प का समर्थन
गौशालाओं के लिए तहसील स्तर पर जमीन आवंटन और गायों की हालत पर ज्यादातर विधायक एक सुर में बोले. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने संकल्प का समर्थन करते हुए कहा कि पूरा बीजेपी विधायक दल इस संकल्प के समर्थन में है. संकल्प को पारित किया जाए. सभापति ने फिर भी इस पर बहस जारी रखवायी. उपनेता राजेंद्र राठौड़ ने संकल्प को पारित करवाने के लिए सभापति राजेंद्र पारीक से मतदान करवाने की बात कही. लेकिन सभापति चर्चा समाप्त कर अन्य विधायी कार्य करवाने में लग गए.

वेल में आए बीजेपी विधायक

इस पर विपक्ष के सभी विधायक वेल में आ गए और इसको सर्वसम्मति से पारित नहीं करने पर सदन से वॉक आउट कर दिया. वॉक आउट करने के दौरान विपक्षी विधायकों ने सदन में गाय माता के जयकारे लगाए.

कांग्रेस विधायकों ने गाय को माता कहकर संबोधित किया
कांग्रेस विधायक के संकल्प प्रस्ताव पर बहस के दौरान पार्टी विधायकों ने गाय को माता कहकर संबोधित किया. इस दौरान मंत्री शांति धारीवाल की टिप्पणी का जिक्र भी आया. धारीवाल ने कुछ दिन पहले ही यूडीएच की अनुदान मांगों पर बहस के दौरान सावरकर की किताब का हवाला देते हुए कहा था कि गाय एक जानवर है और उसे पूजने में कोई सेंस नहीं है. इस मामले में सदन में कई बार नोक-झोंक हुईं.
Loading...

कांग्रेस और बीजेपी विधायक एक सुर में बोलते दिखे
गाय और गौशाला पर संकल्प प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस और बीजेपी विधायक एक सुर में बोलते दिखे. आम तौर पर इस तरह की सहमति कम ही मौकों पर देखने को मिलती है. 29 जुलाई को सीएम अशोक गहलोत ने सदन में जय श्रीराम बोला और अब कांग्रेस विधायक गौमाता की महिमा का बखान करते दिखे. इस बदलाव को कांग्रेस के सॉफ्ट हिंदुत्व के फार्मूले से जोड़कर देखा जा रहा है.

(रिपोर्ट- सुधीर शर्मा, गोवर्धन चौधरी और बाबूलाल धायल)

राजस्थान में अब नहीं चलेंगे हुक्का बार, बिल हुआ पारित

MLA राजेंद्र गुढ़ा के बयान के बाद BSP में गरमाई सियासत
First published: August 3, 2019, 10:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...