लाइव टीवी

अब नहीं बच पाएंगे आदतन अपराधी, पुलिस इस नए प्रयोग के जरिए कसेगी शिकंजा

Rakesh Gusai | News18 Rajasthan
Updated: November 18, 2019, 4:13 PM IST
अब नहीं बच पाएंगे आदतन अपराधी, पुलिस इस नए प्रयोग के जरिए कसेगी शिकंजा
एडीजी क्राइम बीएल सोनी के अनुसार अब हर जिले में वहां के टॉप 25 अपराधियों की सूची तैयार कराई जा रही है.

राजस्थान (Rajasthan) में लगातार बढ़ रहे संगठित और असंगठित अपराधों (Organized and unorganized crimes) पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस मुख्यालय सक्रिय (Police Headquarters Active) हो गया है. प्रदेश के छंटे हुए आदतन बदमाशों की धरपकड़ के लिए अब विशेष अभियान (Special drive) चलाया जाएगा.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में लगातार बढ़ रहे संगठित और असंगठित अपराधों (Organized and unorganized crimes) पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस मुख्यालय सक्रिय (Police Headquarters Active) हो गया है. प्रदेश के छंटे हुए आदतन बदमाशों की धरपकड़ के लिए अब विशेष अभियान (Special drive) चलाया जाएगा. पुलिस महकमे ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी है. इसके तहत आदतन और इनामी बदमाशों (Habitual and prize crooks) को दो सूचियां बनाई जाएंगी. उसके बाद उन्हें सलाखों के पीछे धकलने का कार्य किया जाएगा.

सरकार ने दिए पुलिस महकमे को निर्देश
पुलिस और सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद भी प्रदेश में बीते दिनों में अपराधों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है. इससे चिंतित सरकार ने पुलिस महकमे को आदतन अपराधियों को पकड़ने के लिए विशेष कार्ययोजना बनाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. सरकार से मिले निर्देशों के बाद पुलिस मुख्यालय ने इस पर काम करना भी शुरू कर दिया है.

जिलेवार टॉप 25 अपराधियों की सूची तैयार होगी

एडीजी क्राइम बीएल सोनी के अनुसार अब हर जिले में वहां के टॉप 25 अपराधियों की सूची तैयार कराई जा रही है. इस सूची में उन अपराधियों के नाम शमिल किए जा रहे हैं, जो आदतन और इनामी हैं. इस सूची को प्रदेश के सभी जिलों के साथ शेयर किया जाएगा. उन अपराधियों को किसी भी जिले की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है.

अपराधी की गिरफ्तारी के साथ ही सूची में दूसरा नाम जुड़ जाएगा
जैसे ही 25 में से किसी भी अपराधी को गिरफ़्तार किया जाएगा नए अपराधी नाम उस सूची में जोड़ लिया जाएगा. इस प्रयोग के बाद पुलिस मुख्यालय को उम्मीद है कि अधिक से अधिक अपराधी पुलिस की पकड़ में होंगे. अभी दूसरे जिले में अपराधियों का डाटा नहीं होने से अपराधी वहां पहुंच जाते हैं पुलिस की पहुंच से बाहर हो जाते हैं. लेकिन इस प्रयोग के बाद अपराधियों का दूसरे जिले में छिप जाना आसान नहीं होगा.थानावार भी बनाई जाएगी अपराधियों की सूची
जिलों के साथ ही पुलिस थानों में भी इस योजना पर काम शुरू हो गया है. सभी पुलिस थानों में भी टॉप-10 अपराधियों की सूची तैयार की गई है. इस सूची में भी ऐसे अपराधियों को ही शामिल किया गया है जो आदतन इनामी हैं. इस सूची को भी जिलों के सभी थाने में शेयर किया गया है.

पपला गुर्जर का क्राइम डाटा भी सभी जिलों को भेजा
इसके साथ ही पुलिस मुख्यालय ने पपला गुर्जर का क्राइम डाटा सभी जिलों को भेजा है. पपला यूं तो भिवाड़ी थाने में वांटेड है, लेकिन अब उसे किसी की जिले की पुलिस पकड़ सकती है. उसे इनामी राशी भी दी जाएगी. राजस्थान पुलिस के इस प्रयोग से अपराधियों को अब एक तरह से राज्यस्तरीय अपराधी बना दिया है.

बीकानेर: सड़क पर पसरा काल, बस-ट्रक भिड़ंत हादसा, मृतकों की संख्या हुई 12

Alert: जयपुर में बदमाशों की फिर एंट्री, शंकरा रेजीडेंसी से पकड़े 7 शातिर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 3:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर