लाइव टीवी

कर्मचारियों को हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, वेतन व पेंशन से रिकवरी पर लगाई रोक

Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: October 4, 2019, 11:07 AM IST
कर्मचारियों को हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, वेतन व पेंशन से रिकवरी पर लगाई रोक
नोटिफिकेशन से कर्मचारियों पर रिकवरी की तलवार लटकी हुई थी.

राजस्थान हाई कोर्ट (Rajasthan High Court) से प्रदेश के लाखों राज्य कर्मचारियों (State employees) को बड़ी राहत (Big relief) मिली है. हाई कोर्ट ने सरकार के उस नोटिफिकेशन (Notification) की पालना पर रोक लगा दी है, जिसमें कर्मचारियों के वेतन व पेंशन से रिकवरी (Recovery from salary and pension) करने के आदेश जारी किए थे.

  • Share this:
जयपुर.राजस्थान हाई कोर्ट (Rajasthan High Court)  से प्रदेश के लाखों राज्य कर्मचारियों (State employees) को बड़ी राहत (Big relief) मिली है. हाई कोर्ट ने राज्य सरकार के उस नोटिफिकेशन (Notification) की पालना पर रोक लगा दी है, जिसमें कर्मचारियों के वेतन व पेंशन से रिकवरी (Recovery from salary and pension) करने के आदेश जारी किए थे. कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस मोहम्मद रफीक (Acting Chief Justice Justice Mohammad Rafiq) की खण्डपीठ ने राजस्थान वाटर वर्क्स कर्मचारी संघ की याचिका पर सुनवाई करते हुए रिकवरी पर यह रोक लगाई है.

कर्मचारियों में रोष व्याप्त हो गया था
वर्ष 2017 में वसुंधरा सरकार ने राज्य कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का लाभ दिया था. लेकिन इस लाभ के साथ ही सरकार ने नोटिफिकेशन के जरिए राजस्थान पुनरर्क्षित वेतमान-2008 में संशोधन करते हुए चयनित वेतमान की जगह एसीपी (एश्योर करियर प्रोग्रेसन) लागू कर दी. इसे जुलाई 2013 से प्रभावी बनाया गया था. वहीं जो कर्मचारी पहले से बढ़ी हुई ग्रेड-पे का लाभ ले रहे थे उनकी रिकवरी निकाल दी. इसे लेकर कर्मचारियों में रोष व्याप्त हो गया था.

कर्मचारियों पर लटकी हुई थी रिकवरी की तलवार

इसे लेकर कर्मचारी सड़क से लेकर कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे थे. चुनावी साल होने के चलते सरकार ने कुछ समय के लिए इस रिकवरी को रोक दिया, लेकिन इसकी तलवार कर्मचारियों पर लटकी हुई थी. गु़रुवार को एक्टिंग सीजे मोहम्मद रफीक की खण्डपीठ ने राजस्थान वाटर वर्क्स कर्मचारी संघ की याचिका पर सुनवाई करते हुए इस रिकवरी पर ही रोक लगा दी.

कई जगह रिकवरी भी शुरू हो गई थी
कोर्ट के फैसले के बाद कर्मचारियों ने फिलहाल राहत की सांस ली है. फैसला आने के साथ ही प्रदेश के कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई. कर्मचारियों ने मुंह मीठा करवाकर एक-दूसरे को बधाई दी. राजस्थान वाटर वर्क्स कर्मचारी संघ के अध्यक्ष कुलदीप यादव ने कहा कि सरकार के फैसले से कर्मचारियों पर कुठाराघात हो रहा था. उन पर लगातार रिकवरी की तलवार लटकी हुई थी. कई जगह रिकवरी भी शुरू हो गई थी.शिक्षकों के तबादलों पर बवाल, बारां में हाई-वे और चूरू में बाजार में लगाया जाम

जोधपुर में मानवता हुई शर्मसार, MDM अस्पताल के कूड़ेदान में नवजात का शव फेंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2019, 7:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर