राजस्थान में सख्त लॉकडाउन: आखातीज के अबूझ और पीपल पूर्णिमा के सावे पर ग्रहण, पढ़ें विस्तृत गाइडलाइन

राजसथान में आखातीज पर बड़ी संख्या में विवाह समारोह होते हैं. इस बार आखातीज 14 मई को है. (सांकेतिक फोटो)

राजसथान में आखातीज पर बड़ी संख्या में विवाह समारोह होते हैं. इस बार आखातीज 14 मई को है. (सांकेतिक फोटो)

Strict Lockdown in Rajasthan: गहलोत सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिये आगामी 10 मई की सुबह 5 बजे से 24 मई की सुबह 5 बजे तक सख्त लॉकडाउन लगा दिया है. इसमें शादियों पर कई तरह के सख्त प्रतिबंध लगा दिये गये हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान में कोरोना संक्रमण (Corona infection)  की चेन तोड़ने के लिए प्रदेश में 10 मई से 24 मई तक सख्त लॉकडाउन (Strict Lockdown) लागू करने का निर्णय किया है. मंत्रिपरिषद की ओर से पांच सदस्यीय मंत्री समूह के सुझावों पर चर्चा कर गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने गुरुवार रात लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है. राज्य में 10 मई को प्रातः 5 बजे से 24 मई की प्रातः 5 बजे तक लॉकडाउन रहेगा. राज्य में विवाह समारोह (Marriage ceremony) 31 मई 2021 के बाद ही आयोजित किए जा सकेंगे. विवाह समारोह के लिये राज्य ने सख्त गाइडलाइन जारी की है. इसका उल्लंघन करने पर भारी जुर्माने का प्रावधान किया गया है.

गहलोत सरकार ने गांवों में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए आखातीज के अबूझ सावे पर रोक लगा दी है. 14 मई को प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में आखातीज के अवसर पर शादियां होनी थी. इससे कोरोना का खतरा और बढ़ने की संभावना प्रबल हो गई थी. इसके बाद 26 मई को पीपल पूर्णिमा के सावे पर भी सरकार ने रोक लगा दी है. 31 मई के बाद ही शादी समारोह की अनुमति होगी. इसके लिए राज्य सरकार संभवत अलग से गाइडलाइन जारी करेगी. यहां पढ़िये लॉकडाउन के दौरान शादियों को लेकर क्या गाइडलाइन तय की गई है.

ये है पूरी गाइडलाइन

- विवाह से संबंधित किसी भी प्रकार के समारोह, डीजे, बारात एवं निकासी तथा प्रीतिभोज आदि की अनुमति 31 मई तक नहीं होगी.
- विवाह घर पर ही अथवा कोर्ट मैरिज के रूप में ही करने की अनुमति होगी. इसमें केवल 11 व्यक्ति ही शामिल हो सकेंगे.

- विवाह समारोह की सूचना राज्य सरकार को देनी होगी.

- विवाह में बैण्ड-बाजे, हलवाई, टैन्ट या इस प्रकार के अन्य किसी भी व्यक्ति के सम्मिलित होने की अनुमति नहीं होगी.



- शादी के लिए टैन्ट हाउस एवं हलवाई से संबंधित किसी भी प्रकार के सामान की होम डिलीवरी भी नहीं की जा सकेगी.

- मैरिज गार्डन, मैरिज हॉल एवं होटल परिसर को शादी-समारोह के लिए बंद रहेंगे.

- विवाह स्थल मालिकों, टैन्ट व्यवसायियों, कैटरिंग संचालकों और बैण्ड-बाजा वादकों आदि को एडवांस बुकिंग राशि आयोजनकर्ता को लौटानी होगी या बाद में आयोजन करने पर समायोजित करनी होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज