बोले शिक्षा मंत्री देवनानी, राजस्थान के स्कूलों के लिए बनाए जाएंगे कड़े नियम

Mahesh Dadhich | ETV Rajasthan
Updated: September 12, 2017, 6:20 PM IST
बोले शिक्षा मंत्री देवनानी, राजस्थान के स्कूलों के लिए बनाए जाएंगे कड़े नियम
फोटो-(ईटीवी)
Mahesh Dadhich | ETV Rajasthan
Updated: September 12, 2017, 6:20 PM IST
गुरूग्राम के रेयान स्कूल में हुई स्कूली छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की मौत के बाद अब राजस्थान का शिक्षा विभाग भी हरकत में आया है. शिक्षा विभाग जल्द ही अब सरकारी और निजी स्कूलों के लिए गाइड लाइन तय करने वाला हैं, जिसमें ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसका खास ध्यान रखा जाएगा.

विभाग अब प्रदेशभर के स्कूलों में खास निर्देश जारी करेगा, जिसके तहत स्कूलों को अपने यहां नियुक्त स्टाफ की तमाम जानकारियां अभिभावकों से साझा करनी होगी. बाकायदा बोर्ड पर प्रदर्शित करना होगा. अभिभावकों के स्कूल प्रशासन का तालमेल हो इसके लिए पैरेंट टीचर्स मीटिंग पर जोर दिया जाएगा.

स्कूलों के स्टाफ की ट्रेनिंग और उनकी भी बाकायदा संवेदशीलता परखी जाए, उनका पिछला रिकॉर्ड देखा जाए. बच्चों की भी मनोवृ़त्ति समझने के लिए भी समय-समय पर काउंसलिंग की जाए, स्कूलों में सुझाव, शिकायत पेटिकाएं रखने और मॉनिटरिंग बढ़ाने पर जोर दिए जाने की बात भी इन निर्देशों को शामिल किया जाएगा.

शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी का कहना है कि वे खुद इस संबंध में विभाग के उच्चाधिकारियों से चर्चा कर जल्द ही सभी स्कूलों को निर्देशित करेंगे.

हालांकि शिक्षा विभाग भले ही अपने दिशा निर्देशों के जरिए प्राइवेट स्कूलों पर लगाम लगाने की लाख कोशिशें करता रहा हो, लेकिन निजी स्कूल संचालक हैं कि विभाग के आदेशों को ताक पर रखकर अपनी मनमर्जी करते आए हैं.

हालांकि, उम्मीद कि जानी चाहिए कि कम से कम अब तक मोटी फीस वसूलने वाले ये निजी स्कूल अभिभावकों के साथ तो छलावा ना करें. शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा सरकार ने फीस एक्ट में फीस को नियंत्रित किया है. बाल वाहिनी पर भी कन्ट्रोल किताबों की खरीद जल्दी-जल्दी ड़्रेस का बदलना तमाम मामलों पर शिकायत आने पर शिक्षा विभाग कर्रवाई करता है.
First published: September 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर