छात्रसंघ चुनाव-2019: RU में ABVP और NSUI ने पूर्व अध्यक्षों और बागियों को सौंपा जीत का जिम्मा

Mahesh Dadhich | News18 Rajasthan
Updated: August 25, 2019, 10:53 AM IST
छात्रसंघ चुनाव-2019: RU में ABVP और NSUI ने पूर्व अध्यक्षों और बागियों को सौंपा जीत का जिम्मा
जयपुर में राजस्थान विश्वविद्यालय में प्रचार मेें जुटे एबीवीपी के छात्र नेता।

राजस्थान विश्वविद्यालय (Rajasthan University) के छात्रसंघ चुनाव (Students' Union Election-2019) में छात्र संगठनों एबीवीपी (ABV) और एनएसयूआई (NSUI) ने विश्वविद्यालय के पूर्व अध्यक्षों और पूर्व में संगठनों से बगावत कर चुनाव लड़ने वाले बागियों को चुनाव जीताने का जिम्मा (Entrusted with responsibility) सौंपा दिया है.

  • Share this:
राजस्थान विश्वविद्यालय (Rajasthan University) के छात्रसंघ चुनाव (Students' Union Election-2019) में छात्र संगठनों एबीवीपी (ABV) और एनएसयूआई (NSUI) ने विश्वविद्यालय के पूर्व अध्यक्षों और पूर्व में संगठनों से बगावत कर चुनाव लड़ने वाले बागियों को चुनाव जीताने का जिम्मा (Entrusted with responsibility) सौंपा दिया है. पूर्व अध्यक्षों के साथ-साथ अध्यक्ष पद पर चुनाव हार चुके कैंडिडेट भी अपने-अपने संगठनों की ताकत मजबूत करने के दावे कर रहे हैं. पिछले चुनावों में संगठन से बगावत कर अध्यक्ष बने वो भी अब फिर से अपने संगठनों में लौट आए हैं.

एबीवीपी और एनएसयूआई ने प्रचार में झौंकी अपनी ताकत
राजस्थान विश्वविद्यालय छात्रसंघ के चुनावी मुकाबले में एबीवीपी और एनएसयूआई ने प्रचार में अपनी ताकत झौंक दी है. प्रत्याशी सुबह से लेकर देर शाम तक कैम्पस में घूम-घूम कर प्रचार कर रहे हैं. विश्वविद्यालय में अवकाश का माहौल होने से विद्यार्थी कक्षाओं में नहीं मिल रहे, लिहाजा प्रत्याशियों को हॉस्टल में जाकर उनसे मिलना पड़ रहा है. प्रत्याशी अपने चुनावी मुद्दों और घोषणाओं का बखान कर रहे हैं.

एबीवीपी के पुराने छात्र नेता आए एक मंच पर

विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके एबीवीपी और एनएसयूआई के छात्र नेता भी इस चुनावी मैदान में सक्रिय तौर पर भागीदारी निभा रहे हैं. एबीवीपी से वर्ष 2012 में अध्यक्ष रहे चुके साल राजेश मीणा और वर्ष 2017 में परिषद से बगावत कर अध्यक्ष बने पवन यादव भी फिर से परिषद में लौट कर संगठन की नैया पार लगाने की कोशिश कर रहे हैं. जबकि अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ चुके शंकर गोरा, राजकुमार बिवाल, संजय माचेड़ी और राजपाल चौधरी इस चुनाव की बागडोर थामे हुए हैं.

एनएसयूआई के भी पूर्व अध्यक्ष जुटे हैं चुनाव प्रचार में
दूसरी तरफ एनएसयूआई की बात करें तो पूर्व अध्यक्षों में वर्ष 2014 के अनिल चौपड़ा और वर्ष 2015 के सतवीर चौधरी छात्रसंघ चुनाव में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं. एनएसयूआई से बीते साल ही बगावत कर अध्यक्ष का चुनाव जीतने वाले विनोद जाखड़ भी फिर से एनएसयूआई का झंडा बुलंद कर रहे हैं. संगठनों के चुनाव प्रचार में जुटे विश्वविद्यालय के ये अध्यक्ष अब अपने-अपने पैनलों के लिए वोट मांग रहे हैं. एनएसयूआई के बगावती रहे राहुल भाकर और महेश सामोता भी फिर से संगठन के साथ लौट आए हैं. पिछले चुनाव में सफल नहीं हो सके एनएसयूआई प्रत्याशी रणवीर सिंघानिया को भी संगठन ने प्रचार की जिम्मेदारी दी है. छात्रसंघ चुनावों में बीते बरसों सफलता दिला चुके इन अध्यक्षों के अनुभवों से संगठनों ने बड़ी उम्मीदें लगा रखी है.
Loading...

NSUI student leader engaged in campaigning in Rajasthan University of jaipur-जयपुर में राजस्थान विश्वविद्यालय में प्रचार मेें जुटे एनएसयूआई के छात्र नेता
जयपुर में राजस्थान विश्वविद्यालय में प्रचार मेें जुटे एनएसयूआई के छात्र नेता


सीनियर स्टूडेंट लीडर्स को एकजुट किया जा रहा है
राजस्थान यूनवर्सिटी में छात्र संगठनों की हार की हैट्रिक के बाद इस बार गत बरसों में छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके और चुनाव लड़ने वाले तमाम छात्र नेताओं को एकजुट किया जा रहा है. उम्मीद की जा रही है कि सीनियर स्टूडेंट लीडर्स संगठनों को मजबूत करने में भूमिका निभाएंगे, ताकि फिर से कहीं संगठनों को शिकस्त का सामना नहीं करना पड़े.

छात्रसंघ चुनाव-2019: RU में NSUI में बगावत का झंडा बुलंद

छात्रसंघ चुनाव: RU में जबर्दस्त हंगामा, लाठीचार्ज, प्रदर्शन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 10:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...