लाइव टीवी

जर्मनी और फ्रांस की संस्‍कृति से रुबरू हुए छात्र, फेस्‍ट का आयोजन
Jaipur News in Hindi

Ankit Tiwari | ETV Rajasthan
Updated: November 30, 2015, 11:18 AM IST
जर्मनी और फ्रांस की संस्‍कृति से रुबरू हुए छात्र, फेस्‍ट का आयोजन
जर्मनी और फ्रांस को जानो एक्जीबिशन विद म्युजिक फेस्ट का आयोजन जयपुर के एस के पैराडाइज़ होटल में हुआ.

जर्मनी और फ्रांस को जानो एक्जीबिशन विद म्युजिक फेस्ट का आयोजन जयपुर के एस के पैराडाइज़ होटल में हुआ.

  • Share this:
जर्मनी और फ्रांस को जानो एक्जीबिशन विद म्युजिक फेस्ट का आयोजन जयपुर के एस के पैराडाइज़ होटल में हुआ.

कार्यक्रम का मकसद भारतीय छात्रों की फ्रांस और जर्मनी के संबंध में जानकारी बढ़ाना था. सांस्‍कृतिक और शिक्षा को प्रोत्‍साहन के मकसद से आयोजित इस कार्यक्रम में जयपुर में इन देशों की भाषा सीख रहे छात्रों और आम लोगों ने भाग लिया.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गोएथे सोसाइटी इंडिया की हेड  प्रोफेसर डॉक्टर पवन सुराणा ने कहा कि भाषा केवल शब्दों को याद कर लेना नहीं है, उसके लिए उस देश की  संस्कृति ,लोगो की सोच और जीने का तरीका भी सीखना जरुरी है.

जर्मनी और फ्रांस को जानो -एक्जीबिशन विद म्युजिक फेस्ट कार्यक्रम जयपुर के ई लैंग्वेज स्टूडियो और इंडियन ट्रिनिटी की ओर से आयोजित किया गया.



इस अवसर पर ई एल एस के फॉरेन लैंग्वेज स्टूडेंट्स ने जर्मन भाषा में जर्मनी का नाटक 'दी ब्रेमेर स्तात्मूज़िकांत्तेन' प्रस्तुत किया. म्युज़िक फेस्ट में हिंदी, अंग्रेजी के साथ जर्मन और फ्रेंच भाषा में संगीत और दूसरे कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए.

प्रोफेसर सुराणा ने विदेशी भाषा सीखने वाले स्टूडेंट्स को अपने अनुभव और करियर संभावनाओं के बारे में विस्तार से बताया. कार्यक्रम में इंडो-जर्मन सोसाइटी जयपुर  के असिस्टेंट जनरल सेक्रेटरी और मणिपाल यूनिवर्सिटी के जर्मन एसोसिएट प्रोफेसर हेमंत अग्रवाल ने विदेशी भाषा सीखने के लाभ और रोजगार के अवसरों की जानकारी दी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2015, 11:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर