सुजानगढ़ उपचुनाव: BJP में टिकट के 4 दावेदारों ने कर डाली प्रेस कॉन्फेंस, पार्टी से की ये बड़ी मांग

बीजेपी की ओर  टिकट के चार दावेदारों ने संयुक्त प्रेस वार्ता का आयोजन किया.

बीजेपी की ओर टिकट के चार दावेदारों ने संयुक्त प्रेस वार्ता का आयोजन किया.

Sujangarh Bye Election: गहलोत सरकार में मंत्री रहे मास्टर भंवरलाल मेघवाल के निधन के चलते सुजानगढ़ विधानसभा में जल्द ही उपचुनाव होने हैं. कांग्रेस की ओर से मास्टर भंवरलाल मेघवाल के बेटे मनोज मेघवाल का टिकट फाइनल माना जा रहा है. बीजेपी में टिकट चाहने वालों की लंबी लिस्ट है.

  • Share this:
सुजानगढ़. सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र में जल्द ही उपचुनाव होने हैं. यहां पर मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल के निधन के चलते उपचुनाव होने हैं. कांग्रेस की ओर से मास्टर भंवरलाल मेघवाल के बेटे मनोज मेघवाल का टिकट फाइनल माना जा रहा है. वहीं बीजेपी में टिकट चाहने वालों ही लिस्ट लंबी है. बीजेपी की ओर टिकट के चार दावेदारों ने संयुक्त प्रेस वार्ता का आयोजन किया. चारों ने प्रदेश बीजेपी से मांग की है कि इस बार टिकट जाति विशेष के प्रत्याशी को न दिया जाए. दरअसल यहां पर मेघवाल जाति के वोट बैंक के चलते पार्टियां इसी समुदाय से उम्मीदवार चुनती हैं.

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बीजेपी नेता गणेश मंडावरिया, राजेंद्र कुमार नायक, विजय चैहान, भवदीप भाटी ने एक स्वर में कहा कि पार्टी हर बार टिकट देने के मामले में एक जाति विशेष को वरीयता नहीं दे, ऐसी हमारी पार्टी से मांग है. गणेश मंडावरिया ने कहा कि पिछली बार मेरी टिकट फाइनल थी और मेरे घर पर पार्टी की ओर से प्रचार सामग्री भी भेज दी गई थी, इसके बावजूद भी बावजूद टिकट बदला गया, ऐसे हर बार यही होता है कि जाति विशेष के प्रत्याशी को ज्यादा महत्व दिया जाता है, जबकि आरक्षित वर्ग में अन्य 22 से भी अधिक काफी सारी जातियां हैं.

भारत सरकार के रक्षा विभाग में रक्षा लेखा महानिदेशक के रूप में सेवा दे चुके राजेंद्र कुमार नायक ने कहा कि बहुत बड़े वर्ग की उपेक्षा जाति विशेष के वोट बैंक के चक्कर में करना गलत है, इसलिए हमारी संगठन से मांग है कि ढर्रे की राजनीति को बदला जाए, ताकि 'सबका साथ सबका विकास' का संदेश जनता में जाए. दूसरी ओर बीजेपी नेता विजय चैहान ने कहा कि हम लोग सभी बीजेपी से टिकट के लिए दावेदारी कर रहे हैं, लेकिन सबको यही डर है कि जातिगत समीकरण के चक्कर में अन्य योग्य नेताओं की उपेक्षा न हो, इसलिए हम पुरजोर शब्दों में मांग करते हैं कि टिकट हम चारों में से किसी को भी दिया जाए.

वहीं भवदीप भाटी ने कहा कि बीजेपी अंत्योदय में यकीन रखती है. हमें विश्वास है कि हमारी पार्टी जरूर इस बार अन्य वर्ग पर मानस बनाएगी. चारों नेताओं ने कहा कि टिकट नहीं मिलने की दशा में भी वो पार्टी का ही साथ निभाएंगे. आपको बता दें आरक्षित विधानसभा क्षेत्र में मेघवाल जाति के वोट बैंक के चलते पार्टियां मेघवाल जाति के प्रत्याशी में ही ज्यादा भरोसा जताती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज