LIVE NOW

Rajasthan: अशोक गहलोत ने ली राजस्थान के CM पद की शपथ, सचिन पायलट बने डिप्टी सीएम

राजस्थान की राजधानी जयपुर में अशोक गहलोत मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमत्री के पद की शपथ ग्रहण की.

Hindi.news18.com | December 17, 2018, 1:37 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated December 17, 2018

हाइलाइट्स

1:37 pm (IST)
1:28 pm (IST)
राजस्थान के डिप्टी CM सचिन पायलट भोपाल के लिए रवाना, भोपाल के बाद जाएंगे रायपुर भी, डिप्टी CM पद की शपथ लेने के बाद पायलट हुए रवाना, MP और छत्तीसगढ़ में CM के शपथ ग्रहण में होंगे शामिल.

12:07 pm (IST)
मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के बाद मोती डूंगर गणेश मंदिर दर्शन करने पहुंची पूर्व सीएम वसुंधरा राजे.

 

11:47 am (IST)
मध्य प्रदेश में 15 साल का वनवास खत्म कर कांग्रेस एक बार फिर सत्ता में लौटी है. कांग्रेस के दिग्गज नेता कमलनाथ राज्य की कमान संभालने जा रहे हैं. 38 साल पहले वो सांसद चुने गए थे और अब वे सूबे के 31वें मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने पहुंच रहे हैं.

11:42 am (IST)
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंती सचिन पायलट पहुंचे जयपुर एयरपोर्ट, दोनों नेता होंगे भोपाल के लिए रवाना. कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने जा रहे हैं भोपाल, भोपाल से दोनों नेता जाएंगे रायपुर, रायपुर में भुपेश बघेल के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे.

 

11:37 am (IST)
शपथ ग्रहण समारोह से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहुंचे मोती डूंगर गणेश मंदिर.

11:31 am (IST)
शपथ ग्रहण समारोह: अनुमानित से ज्यादा संख्या में पहुंच रहे लोग, मंच के पीछे तक लोगों का हुजूम. बड़ी संख्या में लोगों का आना अब भी जारी. दीवारें कूदकर लोग पहुंच रहे समारोह में. पुलिस की बेरिकेडिंग हुई ध्वस्त.

 

11:04 am (IST)
सचिन पायलट ने ली उपमुख्यमंत्री पद की शपथ. राज्यपाल कल्याण सिंह ने दिलाई शपथ

LOAD MORE
राजस्थान के नए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट आज जयपुर के अल्बर्ट हॉल के सामने हुए समारोह में शपथ ग्रहण की. शपथ ग्रहण समारोह में अनुमान से अधिक संख्या में लोग पहुंचे और आयोजन स्थल पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. पुलिस की बैरिकेडिंग ध्वस्त हो गई और लोग दीवारें कूदकर समारोह में पहुंचे. शपथ ग्रहण करने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समारोह स्थल से मोती डूंगरी गणेश मंदिर पहुंचे. मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री इस समारोह के बाद सीधे मध्य प्रदेश के लिए रवाना हो गए हैं. वहां 15 साल का वनवास खत्म कर कांग्रेस एक बार फिर सत्ता में लौटी है. कांग्रेस के दिग्गज नेता कमलनाथ राज्य की कमान संभालने जा रहे हैं. 38 साल पहले वो सांसद चुने गए थे और अब वे सूबे के 31वें मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं.

राजस्थान के साथ तीन राज्यों में नई सरकार के मुख्यमंत्रियों का शपथ ग्रहण सोमवार को रखा गया है. सबसे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री ने शपथ ली. इस समारेाह में 15 राजनीतिक दलों की मौजूदगी में अशोक गहलोत और सचिन पायलट ने शपथ ग्रहण की. इसके बाद मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में समारोह होगा.

कांग्रेस ने जयपुर में होने वाले समारोह में कांग्रेस मोदी सरकार के खिलाफ एकजुटता दिखाने का प्रयास किया. इस कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, आंध्रप्रदेश के सीएम चन्द्रबाबू नायडू, कर्नाटक सीएम कुमार, एनसीपी के शरद पंवार, नेशनल कॉफ्रेंस के फारुख अब्दुला, हेमंत सोरेन और एमके स्टालिन समारोह नेता शामिल हुए. इनके साथ ही पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने भी समारोह में शिरकत की.

राजस्थान में संपन्न चुनावों में कांग्रेस ने राजस्थान की 199 में से 99 सीटें हासिल की और वह सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी. राज्य विधानसभा में 200 सीटें हैं लेकिन एक सीट पर प्रत्याशी के निधन
के बाद चुनाव स्थगित कर दिया गया था. उधर, मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 114 सीटें जीतीं हैं और वह आवश्यक बहुमत 116 के आंकड़ों से पीछे है लेकिन उसे सरकार बनाने के लिए बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने अपना समर्थन दिया है.

अशोक गहलोत और सचिन पायलट के शपथ ग्रहण समारोह की ताजा अपडेट यहां पढ़ें-

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज