अतिक्रमण पर सरकार का भारी भरकम जवाब, 4750 पेज और वजन 30 किलो से ज्यादा

कोटा और बूंदी जिलों में अतिक्रमणों की तादात इतनी है कि सरकार से विधानसभा में पूछ गए सवाल का जवाब ही 4750 पेज में आया. बीजेपी विधायक चंद्रकांता मेघवाल के सवाल पर ये जवाब पेश किया गया.

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: August 7, 2019, 8:07 PM IST
अतिक्रमण पर सरकार का भारी भरकम जवाब, 4750 पेज और वजन 30 किलो से ज्यादा
सरकार से विधानसभा में पूछ गए सवाल का जवाब ही 4750 पेज में आया. (फाइल फोटो-विधानसभा)
Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: August 7, 2019, 8:07 PM IST
राजस्थान में सरकारी जमीनों पर अतिक्रमणों की भरमार है. विधानसभा में पूछे गए दो जिलों में अतिक्रमणों के सवाल का जवाब ही  4750 पेज में आया है. सवाल का इतना बड़ा जवाब आया है कि उसका वजन 30 किलो से ज्यादा है.  केशोरायपाटन से  भाजपा विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने विधानसभा में कोटा और बूंदी जिलों में सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण और अतिक्रमियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का ब्यौरा मांगा था. राजस्व विभाग ने 4750 पेज में उस सवाल का जवाब दिया. कोटा और बूंदी जिलों में ही इतनी बड़ी संख्या में अिितक्रमण हैं कि उनकी सूची में ही 4750 पेज लग गए, अब जब दो जिलों की यह हालत है तो पूरे प्रदेश में किस स्तर पर अतिक्रमण होंगे, इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है.

सवाल के जवाब के 10 सेट तैयार हुए, 47500 पेज लगे

दो जिलों में अतिक्रमणों के इतने बड़े जवाब को ऑनलाइन करने में दिक्कत थी, लिहाजा विधानसभा की वेबसाइट पर इसका ब्यौरा नहीं दिया गया. हार्ड कॉपी में 4750 पेज के जवाब पर अब सवाल भी उठ रहे हैं, क्योंकि इस सवाल के जवाब के 10 सेट तैयार हुए, जिन पर 47500 पेज लगे, इसलिए यह जवाब पेन ड्राइव के जरिए देने का विकल्प हो सकता था, जिससे कागज बचता. राजस्व मंत्री के पास इतने बड़े जवाब वाले सवाल को रद्द करवाने का विकल्प भी था लेकिन इसका जवाब दिया गया, आगे से इतने बड़े जवाब आॅनलाइन देने की व्यवस्था करने की बात कही जा रही है.

अकेले बूंदी जिले में ही 23 हजार से ज्यादा अतिक्रमण

सरकारी जमीनों पर बड़ी तादात में अतिक्रमण होते रहे हैं लेकिन इन्हें हटाने पर उतनी चुस्ती नहीं दिखाई जाती. अकेले बूंदी जिले में ही 23 हजार से ज्यादा अतिक्रमण सामने आए जिनके खिलाफ कार्रवाई की गई.  सरकारी जमीनों पर बढ़ते अतिक्रमणों ने अतिक्रमियों के हौसले बढ़ते ही जा रहे हैं और यही हाल रहे तो आने वााले वक्त में सार्वजनिक जमीनें बच पाना मुश्किल हो जाएगा.

राजस्व मंत्री ने कहा, गरीबों को राहत देने पर विचार

राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि  सरकारी जमीनों पर दो तरह के अतिक्रमण हैं, पहले तो ऐसे अतिक्रमण हैं जो भूमिहीन गरीब लोगों ने घर बना लिए हैं, ऐसे अतिक्रमणों के मामले में गरीब लोगों को राहत देने पर विचार किया जा रहा है, राजस्व की जमीनों पर दूसरे अतिक्रमण भ्ज्ञूमाफियाओं के है., उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.
Loading...

सरकारी जमीनों पर अतिक्रमणों की भरमार

राजस्व विभग के जवाब के मुताबिक कोटा जिले में 8773 अतिक्रमी हैं, 795 हेक्टेयर चारागाह और 3116 हैक्टेयर सिवायचक भूमि से अतिक्रमण हटाए गए, 8768 अतिक्रमियों को नोटिस दिए, 8760 अतिक्रमियोंं की फसल जब्त की गई.  बूंदी जिले में 23247 अतिक्रमियों के चिखलाफ कार्रवाई की गई है,  2384 हैक्टेयर चारागाह भूमि और 8698 हैक्टेयर सिवायचक भूमि पर अतिक्रमण  हटवाए गए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 8:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...