लाइव टीवी

डॉक्टर की मरीज को धमकी- 'पैसे नहीं दिए तो पैर में डाली रॉड वापस निकाल लूंगा', VIDEO वायरल

News18 Rajasthan
Updated: September 21, 2019, 6:54 PM IST
डॉक्टर की मरीज को धमकी- 'पैसे नहीं दिए तो पैर में डाली रॉड वापस निकाल लूंगा', VIDEO वायरल
इस वीडियो में रेजीडेंट डॉक्टर और मरीज के परिजनों के बीच रुपयों को लेकर विवाद हो रहा। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

सोशल मीडिया (social media) में वायरल (Viral) हो रहे इस वीडियो में रेजीडेंट डॉक्टर (Resident doctor) ने मरीज के परिजनों को धमकाया कि यदि पैसे नहीं दिए तो वह पैर में डाली गई रॉड वापस निकाल देगा.

  • Share this:
जयपुर. राजधानी जयपुर (Jaipur) में स्थित प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल (Sawai Mansingh Hospital) का चौंका देने वाला एक वीडियो (Video) सामने आया है. सोशल मीडिया (social media) पर वायरल (Viral) हो रहे इस वीडियो में रेजीडेंट डॉक्टर (Resident doctor) और मरीज के परिजनों के बीच रुपयों को लेकर विवाद (dispute) हो रहा है. इस विवाद के बीच रेजीडेंट डॉक्टर ने मरीज के परिजनों को धमकाया कि अगर पैसे नहीं दिए तो वह पैर में डाली गई रॉड वापस निकाल देगा. वीडियो सामने आने के बाद सवाई मानसिंह अस्पताल अधीक्षक डॉ. डीएस मीणा ने जांच के आदेश (Inquiry order) दिए हैं.

फ्रैक्चर पैर में डाली गई रॉड को लेकर हुआ विवाद
वीडियो में रेजीडेंट डॉक्टर (सैकेंड ईयर) डॉ. नविन्दु एक मरीज के परिजन से उलझते हुए दिखाई दे रहे हैं. वीडियो में दोनों के बीच मरीज के पैर में डाली गई रॉड के पैसों को लेकर विवाद हो रहा है. इस दौरान तैश में आए रेजीडेंट ने कहा, 'पैसे नहीं दिए तो पैर में डाली गई रॉड वापस निकाल लूंगा.'

भामाशाह स्वास्थ्य योजना को नकारा

इस पर मरीज के साथ आए परिजन ने डॉ. नविन्दु को भामाशाह स्वास्थ्य योजना का हवाला देते हुए उसके तहत फ्रैक्चर पैर में रॉड डालने की बात कही. लेकिन रेजीडेंट साफ कर रहा है कि वो भामाशाह से नहीं आती है. वीडियो में रेजीडेंट डॉक्टर का कहना है कि आपके मरीज के लिए बाहर की दुकान से इम्प्लांट खरीदा गया है और उसका पेमेंट नहीं हुआ है. इसलिए दुकानदार दूसरे मरीजों को वो इम्प्लांट दे नहीं रहा है.



अस्पताल अधीक्षक ने दिए जांच के आदेश
Loading...

भामाशाह कार्ड होने के बावजूद बाहर से इम्पलांट मंगाने के मामले में आर्थो विभाग यूनिट हेड का कहना है कि मरीज का भामाशाह कार्ड था, लेकिन वो तुरंत ऑपरेशन चाहता था. इसलिए बाहर से रॉड मंगवाकर ऑपरेशन किया गया. वीडियो कब का है इसका पता नहीं चल पाया है. बहरहाल वीडियो सामने आने के बाद पूरे मामले की जांच के लिए अस्पताल अधीक्षक डॉ. डीएस मीणा ने जांच के आदेश दे दिए हैं.

ये भी पढ़ें--

विधानसभा उपचुनाव का ऐलान: मंडावा और खींवसर सीट पर 21 अक्टूबर को होगा मतदान

जोधपुर संभाग में कांगो फीवर की दहशत, बाड़मेर के संदिग्ध पीड़ित की हुई मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 21, 2019, 5:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...