राजस्थान: शादी को लेकर सरकार को 24 घंटे में बदलनी पड़ी गाइडलाइन, जानिए क्या है नया आदेश

राजस्थान सरकार को कोरोना गाइडलाइन में शादी को लेकर 24 घंटे में बदलाव करना पड़गा है.

राजस्थान सरकार को कोरोना गाइडलाइन में शादी को लेकर 24 घंटे में बदलाव करना पड़गा है.

जयपुर गृह विभाग की ओर से एक दिन पहले जारी हुई गाइडलाइन ने शादी करने वाले लोगों का चैन छीन लिया. असल में शादी के लिए महज तीन घंटे मिलने की वजह से लोग परेशान थे कि आखिर तीन घंटे में पूरी शादी निपटाना कैसे संभव हो पाएगा.

  • Last Updated: April 24, 2021, 11:32 PM IST
  • Share this:
जयपुर. गृह विभाग की ओर से एक दिन पहले जारी हुई गाइडलाइन ने शादी करने वाले लोगों का चैन छीन लिया है. शादी के लिए महज तीन घंटे मिलने की वजह से लोग समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर वह चाहे जितना जल्दी करेंगे, लेकिन तीन घंटे में पूरी शादी निपटाना कैसे संभव हो पाएगा. इस समस्या को दूर करते हुए गृह विभाग के प्रमुख सचिव अभय कुमार ने बताया कि शादी में तीन घंटे 50 मेहमानों के सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार आने और भोजन करने के लिये दिये गए हैं. इसके अलावा दूल्हा और दुल्हन के परिजन रीति रिवाज के मुताबिक शादी कर सकेंगे.

निजी वाहन से बारात दूसरे जिले में जाने पर पाबंदी 

गृह विभाग की संशोधित गाइडलाइन के अनुसार, शादी समारोह की सरकारी कर्मचारी और अधिकारी निगरानी रखेंगे. संबंधित व्यक्ति को शादी करने से पूर्व एसडीएम से अनुमति लेनी होगी. ईमेल के माध्यम से अनुमति ली जा सकती है. समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना के लिए वीडियोग्राफी करवाई जाएगी. हालांकि गृह विभाग ने जो गाइडलाइन जारी की है उसके मुताबिक निजी वाहनों से दूसरे जिले में जाने पर पाबंदी रहेगी. अब शादी समारोह करने वाले संबंधित व्यक्ति की चिंताएं और बढ़ गई हैं. क्योंकि निजी वाहन से दूसरे जिले में दुल्हा समेत बाराती के जाने पर पाबंदी रहेगी.

2 गज की दूरी की पालना के लिए होमगार्ड नियुक्त
कोरोना की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदमों के तहत सामाजिक दूरी की पालना करवाने, मास्क लगवाने के साथ ही माइक्रो कंटेनमेंट जोन एवं संयुक्त दल बनाने के लिए 25 अप्रेल से 30 अप्रैल तक के लिए गृह विभाग ने पुलिस के सहयोग के लिए तीन हजार होम गार्ड जवानों को नियोजित करने की सशर्त स्वीकृति दी है. इनका खर्च एसडीआरएफ मद में से वहन किया जाएगा. गृह विभाग के ग्रुप सात के संयुक्त शासन सचिव देवेन्द्र कुमार ने इस बारे में आदेश जारी किए हैं. बता दें पिछले साल भी कोरोना के दौरान होमगार्ड ने अपनी जिम्मेदारी का ना केवल पूरी तरह से पालन किया था बल्कि कोविड गाइड लाइन की पालना करवाने से लेकर गरीब लोगों को खाना खिलाने तक अपनी अहम भू्मिका निभाई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज