अपना शहर चुनें

States

निलंबित आईएएस अधिकारी निर्मला मीणा पर आयकर विभाग भी कसेगा शिकंजा

निलंबित आईएएस अधिकारी निर्मला मीणा। फोटो: न्यूज 18 राजस्थान
निलंबित आईएएस अधिकारी निर्मला मीणा। फोटो: न्यूज 18 राजस्थान

भारतीय प्रशासनिक सेवा की निलंबित अधिकारी निर्मला मीणा पर आयकर विभाग का शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा है. एसीबी की शिकायत पर आयकर विभाग की बेनामी संपत्ति यूनिट ने निर्मला मीणा की संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

  • Share this:
भारतीय प्रशासनिक सेवा की निलंबित अधिकारी निर्मला मीणा पर आयकर विभाग का शिकंजा कसने जा रहा है. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की शिकायत पर आयकर विभाग की बेनामी संपत्ति यूनिट ने निर्मला मीणा की संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. एसीबी छापों में सामने आई निर्मला मीणा की अवैध संपत्तियों को लेकर केन्द्र सरकार और राज्य सरकार भी कार्रवाई कर सकती है.

भ्रष्टाचार से अकूत संपत्ति जोड़ने वाली 35000 क्विंटल गेंहू के गबन की मुख्य आरोपी निलंबित आईएएस निर्मला मीणा की मुश्किलें बढती जा रही हैं. एसीबी के छापों में सामने आया कि निर्मला मीणा ने जोधपुर के पाल गांव में करोड़ों रुपए की जमीन को बेनामी तरीके से खरीदा है. निर्मला मीणा ने इस 25 बीघा बेशकीमती जमीन को पाल गांव की भील बस्ती के रहने वाले बिलाराम भील के नाम पर खरीदा है. कच्ची बस्ती के झोंपड़े में गुजर बसर करने वाले 25 बीघा जमीन के कागजी मालिक बिलाराम भील ने एसीबी मुख्यालय और आयकर विभाग को शपथ पत्र देकर इस जमीन का मालिक होने से साफ इंकार कर दिया है. शपथ पत्र में बिलाराम भील ने इस जमीन का असली मालिक भी आईएएस निर्मला मीणा को ही बताया है.

विभाग ने नोटिस किए जारी
आयकर विभाग की बेनामी प्रॉपर्टी यूनिट ने इस मामले की गंभीरता से जांच करने के बाद निर्मला मीणा को नोटिस जारी किए हैं. राजस्थान में पहली बार किसी आईएएस अधिकारी के नाम पर बेनामी सपंत्ति आने के मामले को आयकर विभाग ने गंभीरता से लिया है. आयकर विभाग की ओर से निर्मला मीणा द्वारा खरीदी गई दो दर्जन से ज्यादा संपत्तियों की जांच भी की जा रही है. निर्मला मीणा की ओर से कार्मिक विभाग को अपनी संपत्ति के संबंध में दिए गए शपथ पत्र में भी तथ्य छुपाकर गलत जानकारियां देने की जांच की जा रही है. निर्मला मीणा द्वारा जो संपत्तियां अपने पति व पुत्रों के नाम पर खरीदी गई हैं उनके आय के स्रोत्र की जांच भी आयकर बेनामी संपत्ति यूनिट कर रही है. आयकर विभाग निर्मला मीणा की निम्न संपत्तियों की जांच कर रहा है.
- करोड़ों रुपए का ईएसएसआर का पेट्रोल पंप


- जोधपुर के उम्मेद हैरीटेज में 501 नंबर का आलीशान फ्लैट
- आशापूर्णा वैली में 303 नंबर का आलीशान आवासीय मकान
- निर्मला मीणा व परिजनों के बैंक खातों में 59 लाख रुपए
- गांव उचियारडा की खसरा नंबर 100 की बेशकीमती भूमि
- जोधपुर के राजीव गांधी नगर में भूखंड संख्या 3
- कृष्णा नगर सेक्टर-बी में 51 नंबर का प्लॉट
- सिरोही- आबूरोड़ तहसील के ओरिया गांव में बेशकीमती भूमि
- जोधपुर के आशापूर्णा वैली में 303 नंबर का बेशकीमती भूखंड
- बाड़मेर के पचपदरा में जरेला गांव में 15 बीघा भूमि
- जोधपुर के पाल में दो बेशकीमती 5000 वर्गफीट के भूखंड
- जोधपुर से झालामंड सूरसागर में बेशकीमती जमीन
- इंदिरा गांधीनगर योजना में दो बेशकीमती भूखंड

कई सपंतियां आई हैं सामने
आयकर विभाग को कार्मिक विभाग से मिली जानकारी के अनुसार निर्मला मीणा ने जयपुर में अपने एक फ्लैट, एक आवासीय मकान, जोधपुर में एक आवासीय मकान और बाड़मेर के पचपदरा में एक संपत्ति की जानकारी ही उपलब्ध कराई है. जबकि जयपुर, माउंट आबू, सिरोही, जोधपुर में दो दर्जन से ज्यादा अवैध संपत्तियां भी निर्मला मीणा की सामने आई हैं. उनकी जांच एसीबी के साथ साथ आयकर विभाग भी कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज