Home /News /rajasthan /

आचार संहिता के फेर में अटकी सरकार की 5 हजार नए डेयरी बूथ खोलने की योजना

आचार संहिता के फेर में अटकी सरकार की 5 हजार नए डेयरी बूथ खोलने की योजना

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

प्रदेश में पांच हजार नए डेयरी बूथ खोले जाने की योजना आचार संहिता के फेर में अटक गई है. इन डेयरी बूथों को खोले जाने में कई तरह की अड़चनें भी सामने आ रही हैं.

    प्रदेश में पांच हजार नए डेयरी बूथ खोले जाने की योजना आचार संहिता के फेर में अटक गई है. इन डेयरी बूथों को खोले जाने में कई तरह की अड़चनें भी सामने आ रही हैं. वहीं बूथ हासिल करने के लिए लोगों में होड़ सी मची हुई है. डेयरी संघों को बड़ी संख्या में आवेदन मिल रहे हैं. अकेले जयपुर डेयरी में ही अब तक पांच हजार से ज्यादा आवेदन फार्मों की बिक्री हो चुकी है.

    लोकसभा चुनाव-2019: कांग्रेस के मिशन-25 की 'नई रणनीति', इन बड़े चेहरों पर खेलेगी दांव

    कमजोर तबके के लोगों को रोजगार देने की मंशा से राज्य सरकार ने पिछले दिनों प्रदेश में डेयरी के पांच हजार नए बूथ खोलने का ऐलान किया था. इस घोषणा के पीछे सरकार की मंशा लोकसभा चुनाव में फायदा लेने की भी थी. यही वजह है कि प्रक्रिया को तेज रफ्तार से आगे बढ़ाया गया. लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद मामला फिलहाल आचार संहिता के फेर में अटक गया है. अभी तक डेयरी बूथों का आवंटन नहीं हो पाया है.

    लोकसभा चुनाव-2019: पूर्व मंत्री निहालचंद ने कहा, किसी भी कीमत पर नहीं छोडूंगा घर

    इन आशंकाओं के बादल भी मंडरा रहे हैं
    उधर, सरकार की इस घोषणा के ऊपर कई तरह की आशंकाओं के बादल भी मंडराते नजर आ रहे हैं. एक साथ इतनी बड़ी संख्या में बूथ खोले जाने की व्यावहारिकता पर ही सवाल उठ रहे हैं. इन पांच हजार बूथ में से करीब एक हजार बूथ तो अकेले जयपुर में ही आवंटित किए जाने हैं. जयपुर डेयरी ने नियम-कायदों और जरुरत को देखते हुए 30 साल में जयपुर शहर में केवल करीब 600 बूथ ही आवंटित किए हैं. जबकि अब कुछ ही महीनों में एक हजार नए बूथ खोले जाने की कवायद चल रही है. इससे ना केवल पहले से चल रहे डेयरी बूथों के कारोबार पर असर पड़ेगा, बल्कि नए बूथ संचालकों को भी अपना घर चलाने लायक पैसा कमाना मुश्किल होगा.

    लोकसभा चुनाव-2019: MP सोनाराम ने जताई दावेदारी, संगठन महामंत्री से की मुलाकात

    यह गाइडलाइन भी है
    हाईकोर्ट की गाइडलाइन है कि एक बूथ से दूसरे बूथ की दूरी कम से कम 200 मीटर की होनी चाहिए. फुटपाथ पर डेयरी बूथ आवंटित नहीं किए जा सकते. शहर की ट्रैफिक व्यवस्था के लिहाज से भी यह काम बड़ा पेचीदा माना जा रहा है. बूथ लगाने की अनुमति देने के लिए नगर निगम को भी भारी मशक्कतों का सामना करना पड़ेगा.

    लोकसभा चुनाव-2019: बागियों से नहीं है कांग्रेस को गुरेज ? बैनरों में छाए हैं बागी

    लोकसभा चुनाव-2019: 23 मार्च से 6 अप्रेल तक कांग्रेस करेगी 100 चुनावी सभाएं

    लोकसभा चुनाव 2019: प्रदेश में बीजेपी-कांग्रेस के इन दिग्गजों पर रहेगी सभी की नजरें

    प्रत्याशी चयन में बदलाव की आहट, कांग्रेस नए जातीय समीकरण और बीजेपी देख रही फीडबैक

    Tags: Ashok gehlot, Jaipur news, Rajasthan news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर