Home /News /rajasthan /

फंसता नज़र आ रहा है जयपुर एयरपोर्ट के निजीकरण का मामला

फंसता नज़र आ रहा है जयपुर एयरपोर्ट के निजीकरण का मामला

 जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निजीकरण का मामला अब फंसता नज़र आ रहा है. राजस्थान सरकार के नागरिक विमानन निदेशालय के डायरेक्टर कैप्टन केशरी सिंह ने जयपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी से इस बारे में जवाब मांगा है.

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निजीकरण का मामला अब फंसता नज़र आ रहा है. राजस्थान सरकार के नागरिक विमानन निदेशालय के डायरेक्टर कैप्टन केशरी सिंह ने जयपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी से इस बारे में जवाब मांगा है.

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निजीकरण का मामला अब फंसता नज़र आ रहा है. राजस्थान सरकार के नागरिक विमानन निदेशालय के डायरेक्टर कैप्टन केशरी सिंह ने जयपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी से इस बारे में जवाब मांगा है.

    जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निजीकरण का मामला अब फंसता हुआ नज़र आ रहा है. राजस्थान सरकार के नागरिक विमानन निदेशालय के डायरेक्टर कैप्टन केशरी सिंह ने जयपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी को पत्र लिखकर पूछा है कि जब एयरपोर्ट की ज़मीन मुफ्त में उपलब्ध कराई गई है तो इसको बिना राज्य सरकार की अनुमति के निजी हाथों में कैसे सौंपा जा सकता है? इसके अलावा भी इस पत्र में कई सवाल पूछे गए हैं. फिलहाल इस पत्र को जयपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी ने दिल्ली डीजीसीए को भेज दिया है. अब इस पत्र का जवाब भी दिल्ली से ही आएगा. कुल मिलाकर मामला राज्य और केन्द्र सरकार के बीच फंसता हुआ नज़र आ रहा है.

    इस मामले में जयपुर एयरपोर्ट प्रशासन से प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने इस पर प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया. हाल ही में देश के 6 एयरपोर्ट निजी हाथों में सौंपने का फैसला लिया गया था. इन 6 एयरपोर्ट में से एक जयपुर एयरपोर्ट भी शामिल है. निजीकरण के वक्त राज्य में बीजेपी की सरकार थी लेकिन अब कांग्रेस की सरकार है. देखना ये है कि अब इस मामलें में क्या कुछ निकलकर सामने आता है.

     

    ये भी पढ़ें-
    जयपुर एयरपोर्ट पर 31 मई तक रात की उड़ाने रहेंगी बंद, कनेक्टिविटी पर होगा असर, ये है वजह

    जयपुर एयरपोर्ट पर तस्करी कर लाया जा रहा था 'सोने का अचार'

    Tags: Airports, Jaipur news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर